बाल दिवस के अवसर पर छात्र - छात्राओं को 1 दिन के लिए बनाया गया थानेदार
वेद पाण्डेय संत कबीर नगर। जनपद के विभिन्न थानों में एक दिन के थानेदार के कार्यक्रम के अन्तर्गत बच्चों को थानेदार बनाया गया। आज दिनांक 20.11.2020 को जनपद में यूनिसेफ के साथ मिलकर एक कैम्पेन के तहत विश्व बालदिवस के अवसर पर जनपद संत कबीर नगर के समस्त थानों पर विभिन्न विद्यालय के बच्चों को बुलाकर उन्हें यातायात नियमों के संबन्ध में, मिशन शक्ति अभियान के तहत हेल्पलाइन नंबरों, आत्मसुरक्षा, चाइल्डसेफ्टी व बाल अपराधों के सम्बन्ध में जागरूक किया गया। एक दिन के थानेदार के रूप में थाना महुली पर कक्षा 11 की छात्रा कविता, थाना धर्मसिंहवा पर छात्रा आभा, थाना मेंहदावल पर कक्षा 06 के छात्र राजकुमार, थाना बेलहरकला पर कक्षा 9 के छात्र अतुल कुमार तिवारी आदि द्वारा कार्यवाहक थाना प्रभारी बनकर लोगों की शिकायतों को सुना गया तथा रजिस्टर को चेक करते हुए कम्प्यूटर कक्ष, हवालात व मालखाने का भी निरीक्षण करते हुए प्रभारी निरीक्षक / थानाध्यक्ष द्वारा पुलिस के कार्यप्रणाली बच्चों को जानकारी दी गयी । आपको बता दें कि हमारे देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन के अवसर पर भारत में प्रत्येक वर्ष 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है। लेकिन विश्व स्तर पर 20 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है। सन् 1954 में हुई थी शुरुआत देश में तो 14 नवंबर को ही बाल दिवस मनाते हैं लेकिन अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस प्रत्येक वर्ष 20 नवंबर को मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा इसकी शुरुआत सन् 1954 में की गई थी। बच्चों से जुड़े मुद्दों के प्रति लोगों में जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए ही हर वर्ष इसे मनाया जाता है। इस दिन को अंतर्राष्ट्रीय बाल अधिकार दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। साथ ही उत्तर प्रदेश में मिशन शक्ति अभियान के तहत 7 वीं कक्षा में पढ़ने वाली इशिका को एक दिन के लिए पुलिस अधीक्षक बनाया गया। आगरा के एसपी हितेश चंद्र अवस्थी ने हर थाने में बच्चियों को एक दिन के थानेदार बनाए जाने के निर्देश दिए। इसके लिए हरिपर्वत थाने का चार्ज इशिका बंसल को दिया गया।वह दिनभर पुलिस के साथ रहकर काम करती रही।