आग लगने से झोपड़ी जलकर राख,गाय भी बुरी तरह झुलसी

 कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट



लार-देवरिया:-लार क्षेत्र के खेमादेई (कुशवाहा टोला) में आग लगने से झोपड़ी जलकर राख हो गई। खेमादेई के कुशवाहा टोला पर  आफताब आलम पुत्र ईशराइल आलम अपने झोपड़ी में बंधी गाय को मच्छरों से बचाने के लिए धुवाहरा कर रहे थे कि अचानक शाम 5:30 मिनट पर कौड़ा के उपर रखा पुवाल जल उठा और झोपड़ी में आग लग गई। आग लगने से झोपड़ी तो जल कर पूरी तरह राख हो गई। और झोपड़ी में बंधी गाय भी आग के चपेट में आने से बुरी तरह झुलस गई। बताया जा रहा है कि पीड़ित व्यक्ति निहायत ही गरीब है। और अन्त्योदय कार्ड धारक हैभोजपुरी में एक कहावत है "गरीबी में आटा गिला होना"यह कहावत यहाँ बिल्कुल फिट बैठती है।पशुपालन विभाग,शासन प्रशासन व समाजसेवियों को चाहिए कि अविलंब पीड़िता की मदद करें जिससे की  पिड़ित व्यक्ति दिवाली और आगामी त्योंहार मना सकें।