अपहरण का 48 घंटे के अन्दर पर्दाफाश


*रिपोर्ट  - प्रशांत श्रीवास्तव मेहदावल संत कबीर नगर*


संत कबीर नगर - संत कबीर नगर जनपद के मेहदावल थाने के राघवेन्द्र यादव पुत्र रामप्रकाश यादव पता डडियाकला थाना मेहदावल जनपद संतकबीरनगर ने थाना स्थानीय पर सूचना दिया कि मेरे चाचा ओमप्रकाश पुत्र श्री भगवती प्रसाद यादव पता डडियाकला थाना मेहदावल जनपद संतकबीरनगर जो 2003 से एल0आई0सी0 एजेन्सी / एजेन्ट का कार्य करते हैं  दिनांक 07.11.2020  को डडियाकला गांव से एल0आई0सी के किश्त का पैसा जमा करने हेतु एल0आई0सी ऑफिस खलीलाबाद गये थे उस दिन वापस लौटकर नहीं आये । 08.11.2020 को समय 13.42 बजे के द्वारा मो0नं0 9838317301 पर मो0नं0 8542817267 से कॉल करके ओमप्रकाश ने बताया कि दिनांक 07.11.2020 को समय 14.30 बजे बताया कि खलीलाबाद से 03-04 आदमी मेरा अपहरण कर मुझे बिहार के सिवान जिले में किसी बड़े हाते में ले आये हैं तथा बन्धक बनाये हुए हैं । इस सूचना पर थाना मेहदावल पर मु0अ0सं0 317 / 2020 धारा 364 भादवि मे अभियोग पंजीकृत किया गया व वादी द्वारा उपलब्ध कराया गयी व्हॉटसअप पर ऑडियो क्लिप को सुनकर तथा संज्ञान में लेकर संवेदनशील अपराध को दृष्टिगत रखते हुए श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय को अवगत कराया गया । 
घटना के संवेदनशीलता को देखते हुए घटना के त्वरित अनावरण हेतु पुलिस अधीक्षक संतकबीरनगर श्री ब्रजेश सिंह के निर्देशन व अपर पुलिस अधीक्षक श्री संजय कुमार के घटना पर्यवेक्षण में प्रभारी सर्विलांस सेल निरीक्षक मनोज कुमार पंत व प्रभारी निरीक्षक थाना मेहदावल की संयुक्त टीम का गठन कर घटना के अनावरण हेतु आदेशित किया गया । पुलिस अधीक्षक संतकबीरनगर के पर्यवेक्षण में गठित टीम द्वारा बनाई गई योजना के तहत अपहृत नाम पता ओमप्रकाश पुत्र श्री भगवती प्रसाद यादव पता डडियाकला थाना मेहदावल जनपद संतकबीरनगर को मकान नं0 C-83, आवास विकास कालोनी बरगदवा थाना चिरुआताल जनपद गोरखपुर से सकुशल बरामद किया गया । पूछताछ में अपहृत ने बताया कि मैं 2003 से एल0आई0सी का एजेन्सी चलाकर एजेन्ट के रूप में कार्य करता हूँ तथा मेरे पिताजी ग्राम जमोरिया खुर्द थाना मेहदावल मे जूनियर हाईस्कूल में प्रधानाध्यापक रहे हैं, उनकी छवि अच्छी होने के कारण संतकबीरनगर व आसपास के जिलों में वर्तमान में मेरे पास 300 ग्राहक मौजूद हैं जिनकी एल0आई0सी की पॉलिशी की किश्तों को मैं ही जमा करता हूँ । इसी बीच ग्राहकों की मेरे ऊपर 72000 रूपये की देनदारी हो गई थी । दिनांक 07.11.2020 को मैं सिर्फ अपने एक ही ग्राहक विजय सिंह यादव पुत्र काशी प्रसाद यादव निवसी डुमरिया थाना कैंपियरगंज जनपद गोरखपुर के 27000 रुपये एल0आई0सी ऑफिस में जमा किये थे बाकी के 45000 रूपये जो 08 थे जो इसी दिन जमा करने थे परन्तु मैंने पहले खर्च कर दिये था इसी कारण मैं 45000 रूपये की धनराशि जमा करने में असहाय हो गया था तथा प्राप्ति रशीद लेने के लिए ग्राहकों का दबाव मेरे ऊपर बढ़ रहा था, मुझे और कोई रास्ता न सूझने के कारण मैने अपने स्वंय के अपहरण की साजिश रची ताकि मेरे अपहरण का थाने में मुकदमा लिख जायेगा तो 45000 रूपये की देनदारी से बच जाऊंगा । इसलिए मैने सबसे अपने सैमसंग मोबाइल सेट से सिम नं0 7651884628 को मोबाइल से निकाल कर तथा उसकी जगह गोरखपुर जा कर उसमें एक नया सिम नं0 8542817267 नं0 डाल दिया तथा गोरखपुर से ही दिनांक 08.11.2020 को समय करीब 13.42 बजे अपने ससुर शंभूनाथ यादव को अपने अपहरण की झूठी कहानी रचकर, मुझे बोलेरो से तीन-चार आदमियों ने खलीलाबाद से अपहरण कर बिहार के सीवान जिले में किसी अनजान हाते में बन्धक बना लिया है तथा इस अपहरण से मैं बहुत हैरान परेशान हूँ। जबकि मैं खलीलाबाद से स्वंय ही 15 वर्ष पूर्व BSNL टावर बरगदवा थाना चिरूआताल जनपद गोरखपुर में गार्ड़ का काम करता था, अपने दोस्त राजेश शर्मा उर्फ भट्टजी पुत्र राम मिलन शर्मा  निवासी कलवारी माफी थाना बांसगांव के कमरे पर अपना बैग लेकर छुप गया था तथा स्वयं द्वारा अपहरण की गयी सूचना का भंडाफोड़ न हो इसीलिए मोबाइल को बंद कर देता था तथा जरूरत पड़ने पर गोरखपुर में घूमघूम कर रूकने वाले स्थान से काफी दूर जाकर थोड़ी देर बात करके मोबाइल को बन्द कर देता था और फिर कमरे में आ जाता था। मुझसे बहुत बड़ा अपराध हो गया है जो देनदारी के दबाव में मेरे द्वारा रचा  गया था । 
अभियुक्त को उसके द्वारा अपराधिक कृत जुर्म धारा 419 / 420 भादवि व 66 आईटी एक्ट में गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है।


गिरफ्तार अभियुक्त का नाम पता-
ओमप्रकाश पुत्र श्री भगवती प्रसाद यादव पता डडियाकला थाना जनपद संतकबीरनगर 
बरामदगी का विवरण- 
1- 01 अदद बैग 
2- 01 अदद सैमसंग मोबाइल ( अपने अपहरण की साजिस रचने की घटना में प्रयुक्त मोबाइल फोन )
3- 01 अदद मोबाइल सिम (नं0 8542817267)
गिरफ्तार करने वाले पुलिस बल का विवरण–
1. प्रभारी निरीक्षक मेहदावल श्री अनिल कुमार पाण्डेय, उ0नि0 राजाराम यादव, हे0कां0 फखरूद्दीन, हे0कां0 रामदुलार यादव, कां0 आलोक शाही 
2. प्रभारी निरीक्षक सर्विलांस सेल श्री मनोज कुमार पंत, कां0 अभय उपाध्याय, कां0 प्रदीप कुशवाहा, कां0 पुष्पेन्द्र गौतम, कां0 रामप्रवेश मद्देशिया सर्विलांस सेल । पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा उक्त घटना का पर्दाफाश करने वाली टीम को 10,000 रु0 के नकद ईनाम से पुरस्कृत किया गया है