बाढ़ से हुई क्षति का केन्द्रीय दल द्वारा निरीक्षण करने के पश्चात   संयुक्त सचिव, एन0डी0एम0ए0/गृह मंत्रालय भारत सरकार  की अध्यक्षता एवं डीएम  व एडीएम  की उपस्थिति में रेस्ट हाउस पर बैठक सम्पन्न हुई

 
 दुर्गेश मूर्तिकार कि रिपोर्ट



सिद्धार्थनगर में बाढ़ से हुई क्षति का केन्द्रीय दल द्वारा निरीक्षण करने के पश्चात  रमेश कुमार गंटा, संयुक्त सचिव, एन0डी0एम0ए0/गृह मंत्रालय भारत सरकार  की अध्यक्षता एवं डीएम  दीपक मीणा, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) सीताराम गुप्त की उपस्थिति में रेस्ट हाउस पर बैठक सम्पन्न हुई। 
 बैठक में  रमेश कुमार गंटा, संयुक्त सचिव, एन0डी0एम0ए0/ गृह मंत्रालय भारत सरकार  को जिलाधिकारी   ने अवगत कराया कि नेपाल राष्ट्र से आने वाले नदी एवं नालों द्वारा भारी जलराशि का बहाव जनपद की नदियों में होने तथा  बूढ़ी राप्ती नदी का जल स्तर खतरे के निशान से ऊपर होने के कारण तहसील नौगढ़ के 19 गांव दिनांक 17.07.2020 को बाढ़ प्रभावित हुए । उक्त के उपरान्त धीरे-धीरे दिनांक 24.07.2020 तक कुल 57 गांव बाढ़ प्रभावित हुए तथा दिनांक 06.08.2020 को बाढ़ का प्रभाव समाप्त हो गया। जनपद की अन्य तहसीले बाढ़ से प्रभावित नही हुई है। तहसील नौगढ़ के 57 गांव बाढ़ प्रभावित थे उसी में से 03 गांव मैरूण्ड थे। राहत एवं बचाव कार्यो हेतु 71 बाढ़ चैकी, 30 बाढ़ शरणालय एवं 46 राहत वितरण केन्द्र स्थापित किये गये। जनपद में 01 एन0डी0आर0एफ0 तथा 01 फ्लड पी0ए0सी0 बटालियन लगाई गयी थी। जनपद में बाढ़ के दौरान अधि0अभि0 लो0नि0वि0, ड्रेनेज खण्ड, विद्युत वितरण खण्ड, सिचांई निर्माण खण्ड तथा अन्य संबधित विभागों द्वारा अपनी रिपोर्ट तैयार कराकर शासन में प्रेषित का दिया गया है। रमेश कुमार गंटा, संयुक्त सचिव, एन0डी0एम0ए0/ गृह मंत्रालय भारत सरकार ने निर्देश दिया कि जनपद में बाढ़ के दौरान हुई क्षति के क्षतिपूर्ति हेतु मत्स्य पालन के तालाबों का सर्वे करा ले। 
 इस बैठक  में उपरोक्त के अतिरिक्त आर0अी0कौल, सलाहकार वित्त मंत्रालय, एफ0एस0डी0 सी0जी0ओ0,  डा0 मान सिंह निदेशक कृषि मत्रालय, उपजिलाधिकारी नौगढ़ विकास कश्यप, अधि0अभि0लो0नि0वि0 (प्र0ख0), सिचांई निर्माण खण्ड, ड्रेनेज खण्ड, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी राजेन्द्र सिंह तथा अन्य संबधित अधिकारी उपस्थित थे।