कोरोना को रोकने के लिए मलिन बस्तियों में होगी टार्गेट सैम्‍पलिंग
वेद पाण्डेय की रिपोर्ट
19 से लेकर 30 नवम्‍बर तक चलेगी सैम्‍पलिंग, तीन दिन ग्रामीण बाजारों पर होगी केन्द्रित -    रोज 1750 सैम्‍पलिंग का जिले में है लक्ष्‍य, 10 टीम सैम्‍पलिंग कार्य मे लगाई जाएंगी *संतकबीरनगर, 18 नवम्‍बर 2020।* कोरोना पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए मलिन बस्तियों तथा ग्रामीण हाट बाजारों में कोरोना की टार्गेट सैंपलिंग की जाएगी। 19 से 30 नवम्‍बर तक चलने वाले इस अभियान को पूरा करने के लिए कुल 10 टीम बनाई गई हैं। इस टीम के लिए रोज 1750 सैम्‍पलिंग का लक्ष्‍य निर्धारित किया गया है । इस दौरान यह अभियान तीन  दिन ग्रामीण बाजारों पर केन्द्रित रहेगा। मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी डॉ. हरगोविन्‍द सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि अधिक से अधिक जांच और एकांतवास  की नीति पर चलते हुए ही कोरोना पर नकेल कसी जा सकती है। इसी को ध्‍यान में रखते हुए सैम्‍पलिंग  के दौरान इस बार सघन मलिन बस्तियों में यह अभियान चलाया जाएगा। कैंसर, टीबी और सांस रोगियों के साथ कोरोना रोगी पाए जाने वाले स्‍थानों पर विशेष ध्‍यान दिया जाएगा। वहां से अधिक से अधिक सैम्‍पलिंग की जाएगी। टीम को आवश्‍यक दिशा-निर्देश दे दिए गए हैं। *कब कहां कहां होगी सैम्‍पलिंग* टारगेट सैम्‍पलिंग के पहले दिन 19 नवम्‍बर को जिला, तहसील व ब्‍लाक हेडक्‍वार्टर पर स्थित मलिन बस्‍ती, 20 व 21  को शहर व कस्‍बे से दूर स्थित मलिन बस्‍ती, 22 को क्‍लोज्‍ड कैम्‍पस जिला या अस्‍थाई जेल, 23 को बाल सुधार, बाल आश्रम, बालिका सुधार, सम्‍प्रेक्षण गृह 24 को नारी निकेतन, वृद्धाश्रम 25 को स्‍ट्रीट वेण्‍डर, रेहड़ी, पटरी, सब्‍जी व फल विक्रेता 26 को स्‍कूल टीचर व स्‍टाफ 27 को सरकारी तथा प्राइवेट कार्यालय के संचालक के अनुरोध पर उनके कार्यालय तथा 28, 29 व 30 नवम्बर को ग्रामीण व शहरी साप्‍ताहिक बाजारों में सैम्‍पलिंग की जाएगी। *40 प्रतिशत एण्‍टीजन जांच होगी* जिले के सैम्‍पलिंग प्रभारी डॉ. एके सिन्‍हा का कहना है कि टारगेट सैम्‍पलिंग के लिए सभी टीम को प्रशिक्षित कर दिया गया है तथा नए दिशा-निर्देशों से अवगत करा दिया गया है। टारगेट सैम्‍पलिंग के दौरान कुल सैम्‍पलिंग का कम से कम 40 प्रतिशत एण्‍टीजन तथा 20 प्रतिशत आरटीपीसीआर जांच की जाएगी। इस दौरान मलिन बस्तियों को टारगेट किया जाएगा और 10 टीम इस कार्य को करेंगी।