न्यायाधीशों की टीम ने राजकीय बाल गृह एवं ‘‘पाथ वात्सलय‘‘ खुला आश्रम गृह (बालक) का किया औचक निरीक्षण
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
आज अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट तथा सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा राजकीय बाल गृह देवरिया तथा ‘‘पाथ वात्सलय‘‘ खुला आश्रम गृह (बालक) में वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव एवं जनजागरूकता हेतु साफ-सफाई, शुद्ध पेयजल, खान-पान, तथा रहन-सहन का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान न्यायाधीशगणों द्वारा उपस्थिति पंजिका का जांच किया गया जिसमें सभी कर्मचारी उपस्थित पायें गये। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश रजनीश कुमार द्वारा बताया गया कि इस समय सर्दी का मौसम बच्चों को कोरोना से बचाव हेतु उत्तम भोजन एवं शुद्ध जल की व्यवस्था की जायें जिससे उनके इम्यूनिटी पाॅवर बनी रहेें, एवं समय -समय पर काढ़ा का भी सेवन कराया जायें। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट भूपेन्द्र प्रताप ने बच्चों के सोने हेतु उनके विश्रामालय, बच्चों के भोजन हेतु उनके खाद्य सूची का निरीक्षण करते हुये भोजन में पौष्टिक आहार देने का निर्देश दिया। वही सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण शिवेन्द्र कुमार मिश्र द्वारा बच्चों के पठन-पाठन का निरीक्षण किया, बच्चों द्वारा संतोषजनक उत्तर न मिलने पर उपस्थित अध्यापको को बच्चों को ठीक ढंग से पढाने का निर्देश दिया गया। सर्दी के मौसम में कोविड महामारी को देखते हुए निर्देश दिया कि बाल गृह के बच्चों का कोरोना टेस्ट को सप्ताह में एक बार अवश्य कराये साथ ही बच्चों को शुद्ध जल दिया जायें, गुणवत्तापूर्ण भोजन दिया जायें। सभी बच्व्चों को मास्क पहनने के लियें प्रेरित किया जाय। बच्चों से योगा कराया जाय। श्री मिश्र ने तत्पश्चात बच्चों के भोजन का निरीक्षण किया इसके बाद श्री मिश्र ने राजकीय बाल गृह में भण्डार गृह में गन्दगी को तुरन्त सफाई कराने का भी निर्देश दिया जिससे कि बिमारियों से भी बचा जा सके तथा सभी बच्चों को आगाह किया कि वे भीड़-भाड़ वाले जगहों से दूर रहे, क्योंकि इस समय बढ़ते कोरोना वायरस के दौरान सबकों सतर्क रहने की जरूरत हैं। सभी बच्चों के श्वास की जांच हेतु निर्देश दिया गया। सिविल जज नासेहा वसीम ने बच्चों के भोजन के किचेन में साफ सफाई की गुणवत्ता की जांच किया तथा भोजन की गुणवत्ता को बनायें रखने तथा बच्चों को हमेशा दूर से रहकर बात करने तथा गर्म पानी पीने का निर्देश दिया। इस निरीक्षण में जिला परिवीक्षा अधिकारी प्रभात कुमार, बाल कल्याण अधिकारी जयप्रकाश तिवारी, राजकीय बाल गृह देवरिया के अधीक्षक यशोदानंद तिवारी व अन्य सम्बन्धित कर्मचारीगण उपस्थित रहें।