निर्माण कार्यो में गुणवत्ता मानकों का पूरी तरह हो पालन,अन्यथा होगी कार्यवाही-डीएम
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिया -विकास कार्यो की मासिक प्रगति समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी अमित किशोर ने सभी अधिकारियों को अपने कार्यालयों में अनिवार्य रुप से पूर्वान्ह् 10 से 12 बजे तक उपस्थित रह कर जन समस्याओं की सुनवायी व उसका समाधान प्राथमिकता के साथ किये जाने का निर्देश दिया है। कहा है कि इस दौरान अनुपस्थिति को गंभीरता से लिया जायेगा और ऐसे अधिकारियों के विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी। जिलाधिकारी श्री किशोर विकास भवन के गांधी सभागार में विकास कार्यो की समीक्षा हेतु आहूत बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होने बिजली बकाये की समीक्षा में विधुत विभाग के अधिशासी अभियंताओं को निर्देश दिया कि वसूली कार्य को प्रभावी तरीके से सुनिश्चित करेें तथा विभागों में जो बकायें है, उसकी वसूली में भी तेजी लायें। उन्होने अधिकारियों को निर्देश दिया कि यदि उनके विभाग में बिजली बिल का भुगतान बकाया हो तो उसे अनिवार्य रुप से कर दें और यदि बजट न हो तो उसके लिये अपने विभागाध्यक्ष से डिमाण्ड करना सुनिश्चित करें। उन्होने निर्माण कार्यो में गुणवत्ता मानको को सुनिश्चित कराये जाने का भी निर्देश अधिकारियों को दिया, कहा कि जो भी निर्माण हो उसमें गुणवत्ता व समयबद्धता का पूरी तरह से अनुपालन प्राथमिकता के साथ कराया जाये। मण्डी समिति में निर्माणाधीन भवन की गुणवत्ता की जांच कराये जाने के लिये उन्होने समिति गठित करने का निर्देश दिया। बीडीओ भटनी को अपने ब्लाक मुख्यालय पर ही निवासरत रहने के निर्देश के साथ सचेत करते हुए कहा कि वे मुख्यालय पर ही रहे, अन्यथा कार्यवाही की जायेगी। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि जो भी निर्माण कार्य इस वित्तीय वर्ष में पूर्ण किये जाने की समयबद्धता निर्धारित हो, उसे अनिवार्य रुप से 31 मार्च तक अवश्य ही पूर्ण करें। धान क्रय में और तेजी लाये जाने के लिये डिप्टी आरएमओ को निर्देश किया कि वे इसका प्रभावी अनुश्रवण करें और सभी केन्द्रों पर सुचारु रुप से कृषको से धान क्रय करने को सुनिश्चित कराये, जो भी शिथिलता बरतें उस केन्द्र प्रभारी के विरुद्ध कार्यवाही भी करायें। उन्होने विकास कार्यो का जो भी लक्ष्य जिस विभाग को निर्धारित किया गया है, उसे समयबद्धता के साथ शतप्रतिशत पूर्ति किये जाने का निर्देश दिया और उसके लिये अधिकारियों को आगाह भी किया। उन्होने जन समस्याओं के त्वरित निस्तारण किये जाने के निर्देश के साथ कहा कि सभी अधिकारी जन शिकायती सन्दर्भो का समाधान समयबद्धता के साथ सुनिश्चित करें। किसी भी दशा में कोई भी प्रकरण डिफाल्टर न हो, इस पर विशेष रुप से ध्यान रखते हुए कार्य करें। बैठक में ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट सुमित यादव, सीएमओ डा0 आलोक पाण्डेय, जिला विकास अधिकारी श्रीकृष्ण पाण्डेय, डीसी मनरेगा गजेन्द्र त्रिपाठी, डीएसओ विनय कुमार सिंह, डीडी कृषि डा0एके मिश्र, सीवीओ डा0विकास साठे, जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रभात कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी कृष्णकान्त राय, अधिशासी अभियंता पीडब्लूडी निर्माण खण्ड कमल किशोर, प्रांतीय खण्ड अशोक चौधरी, अधिशासी अभियंता आरईएस टीएन राय, डीएसटीओ मनोज श्रीवास्तव, मृत्युजन्य चतुर्वेदी, कार्यदायी संस्थाओं एवं यांत्रिक संस्थाओं के अभियंता गण व अन्य जुडे विभागों के अधिकारी गण आदि उपस्थित रहे।