दीपावली बाजार को ध्‍यान में रखते हुए हुई कोविड की फोकस सैम्‍पलिंग

वेद पाण्डेय की रिपोर्ट


 


-    ज्‍वेलरी मार्केट, पटाखा बाजार, बर्तन भण्‍डार व दीपावली के बाजारों में हुई जांच
-    1700 से अधिक लोगों के लिए गए सैम्‍पल, पूरे जिले में हुई सैंपलिंग


*संतकबीरनगर, 10 नवम्‍बर 2020।*


दीपावली में बाजारों में होने वाली भीड़ के मद्देनर मंगलवार को जिले के दीपावली से सम्‍बन्धित बाजारों में फोकस सैम्‍पलिंग का अभियान चलाया गया। सैम्‍पलिंग के लिए लगाई गई टीम ने इस दौरान कुल 1700 से अधिक सैम्‍प‍ल लिए। पूरे जनपद के विभिन्‍न बाजारों में नमूने लिये गये।  


सीएमओ डॉ. हरगोविन्‍द सिंह ने बताया कि कोरोना के प्रभाव को देखने के लिए चलाई जा रहे फोकस सैम्‍पलिंग अभियान में दीपावली से सम्‍बन्धित बाजारों को ध्‍यान में रखकर सैम्‍पलिंग की गई है। जिले के विभिन्‍न ज्‍वेलरी मार्केट, पटाखा बाजार, बर्तन भण्‍डार और दीपावली के बाजारों आदि स्‍थानों पर सैम्‍पलिंग का अभियान चलाया गया, ताकि अगर दीपावली के बाजार में कोई भी कोरोना मरीजहो तो उसके जरिए बीमारी बाजार में आने वाली जनता में न फैले। इसके लिएखलीलाबाद, सांथा, मेंहदावल,धनघटा, सेमरियांवा, नाथनगर, मगहर, चुरेब, पौली, धर्मसिंहवा के साथ ही अन्‍य स्‍थानों पर जांच टीम को लगाया गया है। जांच के लिए लगाई गई 10 परीक्षण टीम ने 1700 से अधिक  सैम्‍प‍ल लिए हैं। इनमें से 650 सैम्‍पल आरटीपीसीआर जांच के लिए तथा 1050 से अधिक सैम्‍पल एण्‍टीजन जांच के लिए लिया गया। उन्होंने बताया कि अभी तक की जा रही फोकस सैम्‍पलिंग के परिणाम काफी संतोषजनक हैं। पाजिटिव होने की संख्‍या प्रतिदिन के हिसाब से शून्‍य से लेकर तीन के बीच में है। केवल 6 नवम्‍बर को 7 पाजिटिव केस सामने आए हैं। सैम्‍पलिंग करा चुकीं मेंहदावल की 21 वर्षीया शिवकुमारी तथा 62 वर्षीय भरत बताते हैं कि हम उन लोगों ने खुद ही अपनी एंटीजन सैम्‍पलिंग करवाई है और दोनों लोगों के परिणाम निगेटिव आए हैं।  


*बाजारों में निरन्‍तर की जा रही है सैम्‍पलिंग – डॉ ए के सिन्‍हा*


जिले की सैम्‍पलिंग टीम के प्रभारी डॉ. एके सिन्‍हा ने बताया कि कोरोना के प्रभाव को देखने के लिए प्रदेश सरकार के द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के आधार पर फोकस सैम्‍पलिंग की जा रही है। इसमें लक्षित समूह की सैम्‍पलिंग की जा रही है। आगे के तीन दिनों में दीपावली के बाजार को केन्‍द्र में रखते हुए सैम्‍पलिंग की जा रही है। ताकि किसी को भी बीमारी हो तो उसका प्रसार  अन्‍य लोगों के बीच न हो। जो लोग पाजिटिव आ रहे हैं उनको तुरन्‍त ही होम आइसोलेटेड कर दिया जा रहा है। एक व्‍यक्ति को कोविड एलवन में भर्ती कराया गया है।