एसएसबी सीमा चौकी रुपैडिहा पर मानव तस्करी करने वाला हुआ गिरफ्तार

आलोक सिंह ब्यूरो चीफ बहराइच




सशस्त्र सीमा बल 42 वी वाहिनी के कमांडेंट प्रवीण कुमार ने बताया कि सीमा पर एल. के. गरवा के नेतृत्व में चेकिंग तथा फ्रिस्किंग ड्यूटी चल रही थी तभी नेपाल से भारत में एक मानव तस्कर एक 22 वर्षीय नेपाली युवती को बहला-फुसला कर शादी करने के बहाने दिल्ली ले जाने को कोशिश कर रहा था, उसी समय सीमा चौकी रुपैडिहा के प्रभारी व अन्य कार्मिकों द्वारा उस मानव तस्कर को युवती के साथ पकड़ लिया गया, तत्पश्चात पकडे गए युवती को शांति पुनर्स्थापना नेपाल व मानव तस्कर को मानव तस्कर को नेपाल पुलिस को सुपुर्द कर दिया गया |
 एसएसबी 42वी वाहिनी की सीमा चौकी रुपैडिहा पर चेकिंग फ्रिस्किंग ड्यूटी के दौरान एक मानव तस्कर नेपाली युवती को शादी का झासा देकर नेपाल से भारत में दिल्ली लेकर जा रहा था | सीमा पर चेकिंग फ्रिस्किंग ड्यूटी में तैनात बल के कार्मिकों ने दोनों से पूछ ताछ की तो दोनों संदेहास्पद लगे | इसके पश्चात सीमा चौकी प्रभारी एल के. गरवा, सहायक कमांडेंट को बुलाया गया | नेपाली युवती को पूछने पर लड़की ने अपन नाम सृष्टी थापा मगर, पुत्री हरक बहादुर थापा, उम्र-22 साल पता- बी. डी. सी. महादेव पूरी कोहल पुर वार्ड संख्या-08 जिला बांके नेपाल बताया तथा यह पूछने पर कि यह युवक कौन है, तथा इससे आपका क्या सम्बन्ध है, तो इस पर युवती ने बताया कि इनका नाम लेब गहदुर घर्ती मगर है, तथा यह युवक मुझे दिल्ली ले जाक मुझसे शादी करेगा | यह यह सिद्ध हो जाने पर कि यह मानव तस्करी का मामला है एसएसबी रुपैडिहा के सीमा चौकी प्रभारी एल.के.गरवा के द्वारा तत्काल शांति पुनर्स्थापना के प्रतिनिधि  बसंती जी.सी. व नेपाल पुलिस के मु.आ. मदन दांगी को बुलाया गया तथा इनके सहमति से युवती को शांति पुनर्स्थापना नेपाल तथा मानव तस्कर को नेपाल पुलिस को सुपुर्द कर दिया गया |
एसएसबी 42वी वाहिनी के कमांडेंट ने बताया कि 42वाहिनी सीमा पर अपराध, तस्करी तथा मानव तस्करी को पूर्ण रूप से ख़त्म करने हेतु निरंतर प्रयत्नरत है | साथ ही साथ हम अन्य सिस्टर एजेंसीयों के साथ कदम से कदम मिलकर लगातार ड्यूटी कर रहें है | इसके लिए नाका और गस्त के माध्यम से हम लगातार सीमा पर छायें हुए है |