युवाओं को नेहरू के जीवन को आत्मसात करने की जरूरत-आशुतोष

कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट


 


नेहरू युवा केन्द्र देवरिया के तत्वाधान में नेहरू युवा केन्द्र का स्थापना दिवस एवम देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती का आयोजन विकास खण्ड सलेमपुर के युवा मण्डल ओझवलिया मनिहारी में किया गया।कार्यक्रम का शुभारंभ पंडित जवाहरलाल नेहरू के चित्र पर अतिथियों द्वारा माल्यार्पण एवम दीप प्रज्वलित कर किया गया।कार्यक्रम में प्रशिक्षक अजय दूबे ने सम्बोधित करते हुये नेहरू युवा केन्द्र के कार्यक्रमो एवम गतिविधियों पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि ग्रामीण युवाओं को राष्ट्र निर्माण की प्रक्रिया में भाग लेने और इसके साथ साथ उनके व्यक्तित्व एवं कौशल विकास के सुअवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से नेहरू युवा केन्दों की स्थापना 14 नवम्बर 1972 में की गई थी।मुख्य अतिथि भाजपा जिलामंत्री अभिषेक जायसवाल ने कहा कि युवाओं को राष्ट्र निर्माण की सहभागिता प्रदान कराने में नेहरू युवा केन्द्र की भूमिका अतुलनीय है।कोरोना काल मे नेहरू युवा केन्द्र के युवाओं ने जरूरतमंदों को मास्क,साबुन ,सेनिटाइजर उपलब्ध कराने के साथ उनको राहत सामग्री वितरण किया है।शिक्षक आशुतोष तिवारी ने पंडित जवाहर लाल नेहरू के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि युवाओं को नेहरू  के जीवन को आत्मसात करने की जरूरत है।युवा मण्डल अध्यक्ष पुनीत यादव ने कहा कि नेहरू युवा केन्द्र द्वारा युवा मंडलों का गठन किया जाता है और उन्हें खेल, सांस्कृतिक और स्थानीय गतिविधियों में प्रतिभागिताओं के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। युवा मंडलों के गठन एवं निरंतरता के लिए युवा नेतृत्व का विकास किया जाता है।इस कार्यक्रम में राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक राकेश दूबे,अनूप उपाध्याय, प्रेमशंकर उपाध्याय,मनीष कुमार,किशन ,रोहित,अभिषेक,प्रमोद ,विवेक यादव,अमन,शिवम मौर्य उपस्थित रहे।