पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 चौधरी चरण सिंह के जन्मदिवस पर आयोजित हुआ किसान मेला
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिया -पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 चौधरी चरण सिंह के जन्मदिवस किसान सम्मान दिवस के रुप में मनाया गया। भारत भारतीय इंटर कॉलेज भरथुवा में एक दिवसीय किसान मेला एवं रबी उत्पादकता गोष्ठी एवं प्रदर्शनी का आयोजन किया गया, जिसमे मुख्य अतिथि के रुप में सलेमपुर सांसद रविन्द्र कुशवाहा सिरकत किये। इस अवसर पर सलेमपुर विधायक काली प्रसाद, सदर विधायक डा0सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी, जिलाधिकारी अमित किशोर, सीडीओ शिव शरणप्पा जीएन सहित अनेक जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों अतिथियों द्वारा चैधरी चरण सिंह के चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित किया गया तथा उत्कृष्ठ उत्पादन करने वाले कृषकों को सम्मानित एवं फार्म मशीनरी बैंक योजना के तहत दो कृषकों को टैªक्टर व कृषि यंत्रों की प्रतीकात्मक चाबी प्रदान की गयी। सलेमपुर सांसद श्री कुशवाहा ने कहा कि चौधरी चरण सिंह वास्तव में किसानो के नेता थे। वह किसानो के मजबूती कैसे हो इसके लिये प्रयासरत रहें। उन्होने कहा कि वर्तमान में केन्द्र व प्रदेश सरकार किसानो के हित में अनेक कार्यक्रम संचालित किये है एवं किसानो के आर्थिक आय बढाने एवं उनके हित के लिये कृषि बिल पारित की है, जो कृषकों के हित में है। उन्होने चरण सिंह के कृषकों के उन्नति की सोच से प्रेरणा लेते हुए सभी को कार्य करने की अपेक्षा की। सदर विधायक डा0सत्य प्रकाश मणि त्रिपाठी ने कहा कि चौधरी चरण सिंह का जो सपना था, उसे साकार करने का कार्य प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री द्वारा किया जा रहा है। किसानो का सम्मान व आय बढाने के लिये प्रधानमंत्री प्रयासरत है। मुख्यमंत्री किसानो का सम्मान, उनकी आर्थिक व्यवस्था मजबुत करने के लिये कार्य कर रहे है। बडी मात्रा में समर्थन मूल्य पर धान का क्रय किया जा रहा है।सलेमपुर विधायक काली प्रसाद ने कहा कि कृषकों का हित सर्वोपरि है। कृषक के मजबूती से ही देश को मजबूती मिलेगी। इसके लिये हम सभी को मिलकर कार्य करने की जरुरत है।जिलाधिकारी अमित किशोर ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्व0चरण सिंह महान किसान नेता थे। उनकी सोच हमेशा किसानो के उन्नति के लिये रहा है और इसके लिये वे कार्य करते रहे है। उन्होने कहा कि भरथुवा में धान क्रय में कुछ दिक्कतें बतायी गयी है, उसके समाधान करने का निर्देश दिया गया है। कहा कि किसानो की आमदनी कैसे दोगुनी हो, इसके लिये बहुत सारे कदम उठाये गये है। मण्डी में गेट पास कृषकों को लेना पडता था, अब यह बन्द कर दिया गया है। कृषक अब अपनी सुविधानुसार न्यूनतम शुल्क पर मण्डी में अथवा कही भी जहां उन्हे उपज की अच्छी कीमत मिले, वे बेच सकते है। उन्होने यह भी कहा कि जलजमाव व अतिवृष्टि से फसलों की हुई नुकसान हेतु राहत धनराशि लगभग 17 करोड की धनराशि कृषकों को इस जनपद में उपलब्ध करायी जा चुकी है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अब स्वेच्छिक कर दिया गया है। उन्होने यह भी कहा है कि आगामी 25 दिसम्बर को भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्व0अटल बिहारी बाजपेयी के जन्म दिवस पर जनपद के सभी ब्लाकों में बृहद कार्यक्रम आयोजित किये जायेगें, जिसमें कृषि की तकनीकी जानकारी प्रदान की जायेगी एवं विभिन्न विभागो के स्टाले आदि लगायी जायेगी। उन्होने इससे कृषको को जुडने की भी अपेक्षा की इस अवसर पर जिन कृषकों को मुख्य रुप से सम्मानित किया गया, उनमें सरसों उत्पादन में छेदी कुशवाहा, विजेन्द्र कुमार, गेहॅू उत्पादन में रामयादी पाल, मालती देवी, धान में हरिवंश सिंह, आनंद कुमार सिंह, गन्ना उत्पादन के लिये मुन्ना कुशवाहा, विरेन्द्र प्रताप सिंह, जितेन्द्र सिंह, तेज बहादुर सिंह, रणविजय मल्ल, मत्स्य पालन में पानमती देवी, अनिल साहनी, जफरुल्लाह खान, जितेन्द्र सिंह, आकाश शर्मा, पशुपालन में सरयू, रामश्रृगांर सिंह, जय नारायण, शैलेश यादव, अजय प्रताप सिंह एवं उद्यान विभाग के तहत उत्कृष्ट बागवानी के लिये जगरनाथ गिरी, पारस राय, अरुण प्रताप सिंह, जगदीश गुप्ता, सुनील कुमार पाण्डेय आदि अतिथियों द्वारा सम्मानित किये जाने में सम्मिलित है। फार्म मशीनरी बैंक योजना के तहत राम शिवेन्द्र प्रताप सिंह एवं राम नारायण तिवारी को प्रतीकात्मक चाबी दी गयी। इस योजना के तहत 15 लाख की यंत्र मूल्य के सापेक्ष इन्हे 12 लाख का अनुदान प्रदान किया गया। मशरुम खेती के लिये स्वतंत्र सिंह को सम्मानित किया गया।अतिथियों द्वारा कृषि क्षेत्र में उत्कृष्ठ कार्य के लिये उप कृषि निदेशक डा एके मिश्र, कृषि वैज्ञानिक रजनीश श्रीवास्तव, जिला उद्यान अधिकारी सीताराम यादव, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी विकास साठे, जिला कृषि अधिकारी मो0 मुजम्मिल, मत्स्य अधिकारी एवं संचालक व कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक डा0सन्तोष चतुर्वेदी को भी शाल ओढाकर सम्मानित किया गया। अतिथियों को एकल पुष्प प्रदान कर उप निदेशक कृषि श्री मिश्र द्वारा स्वागत किया गया। इस अवसर पर विभिन्न विभागो की स्टाले लगायी गयी तथा कृषि की नवीनतम जानकारियां दी गयी।इस अवसर पर उप जिलाधिकारी सलेमपुर ओम प्रकाश, नित्यानंद पाण्डेय, अजय कुमार दूबे, संजय तिवारी, जयनाथ कुशवाहा, राजू मणि, प्रभारी एस एम एस रुद्रपुर रंजना जायसवाल, अम्बिकेश पाण्डेय सहित कृषक गण, प्रबुद्ध जन व अन्य जुडे विभागो के अधिकारी एवं कर्मचारी गण उपस्थित रहे।