राम मन्दिर की हज़ार वर्ष की आयु कोरी कल्पना,3-4 सौ वर्ष की गारण्टी पर्याप्त *चंपतराय
*अयोध्या* श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपतराय ने संतों से कहा राम मन्दिर की हज़ार वर्ष की आयु कोरी कल्पना है | तीन से चार सौ वर्ष की गारण्टी भी मिल जाये तो हम निर्माण के लिए सहमत है| चंपतराय संतों को राम मन्दिर निर्माण के प्रगति के बारे मे जानकारी दे रहे थे| उन्होंने कहा कि मन्दिर के लिए की गई पाइलिंग टेस्टिंग फ़ेल हो गयी | कंकरीट के खम्भे 700टन का लोड डालते ही धँस गये| मंदिर की आयु बढ़ाने के लिए सीमेन्ट मे अभ्रक,कोयले के साथ कुछ अन्य कैमिकल मिलाने पर विचार चल रहा है दरअसल देशभर के विशेषज्ञों ने राम मंदिर के लिए हज़ार वर्ष की लिखित गारण्टी देने मे हाथ खड़े कर दिए है| मंदिर के लिए बनाई गई टेस्ट पाइलिंग पहले ही फ़ेल हो चुकी है टेस्ट पिलर पर लोड डालने के बाद जैसे ही भूकंप जैसे झटके दिए गये उनमें दरारें अा गई और वो लटक गये| इसे देखते ही ट्रस्ट ने तकनीकी विशेषज्ञों के साथ नए सिरे से मंथन शुरु कर दिया है| कोई भी समित हज़ार वर्ष की गारण्टी मंदिर सुरक्षित रखने के लिए नहीं दे सकी| मंदिर निर्माण की ज़िम्मेदारी श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने एलएंडटी व टाटा कंसल्टेंसी को सौंपी है| •32सीढियां चढ़कर होंगे रामलला के दर्शन मंदिर की 32सीढियां चढ़कर होंगे रामलला के दर्शन| इस कार्य मे 16हजार घनफिट पत्थर लगेंगे |इसके लिए साढ़े 16 फिट ऊँचा प्लेटफ़ार्म बनाया जायेगा| यह दो फ़िट ऊँचा दो फ़िट लम्बा और दो फ़िट चौड़ा होगा| प्लेटफ़ार्म मे भी पत्थरों का इस्तेमाल होगा| जिस खान से यह पत्थर आने है उसका भी चयन कर लिया गया है|