अवैध रूप से लग रही बाजार के खिलाफ ग्रामीणों ने जताया विरोध , सप्ताह में दो दिन सोमवार और गुरुवार को लगता है बाजार
अभय जीत प्रजापति की रिपोर्ट
तहसील मोतीपुर ( मिहीपुरवा ) के थाना सुजौली क्षेत्र अंतर्गत भारत-नेपाल सीमा से सटे आम्बा गांव में वैश्विक कोरोना महामारी के समय से बंद पड़े साप्ताहिक बाजार का लगना एक फिर से शुरू हो गया है । सुजौली क्षेत्र का आम्बा गांव नेपाल सीमा से सटा हुआ है । आम्बा के ही गेरुआ नदी के तट पर सप्ताह में दो दिन सोमवार और गुरुवार को अवैध रूप से बड़ा बाजार लगता था । जिसे वैश्विक कोरोना महामारी के चलते प्रशासन ने बंद करवा दिया था । लेकिन गुरुवार और सोमवार सप्ताह में दो दिन पुनः बाजार लगना शुरू हो गया है । बाजार में कोविड-19 के नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं । साथ ही पड़ोसी जनपद खीरी के ढकेरवा , तिकुनिया , बरसोला , गजियापुर आदि जगहों से बड़े व्यापारी वाहनों पर ओवरलोडिंग कर बाजार में सामान ले जाकर अपनी दुकान लगाते हैं । बाजार में कपड़े , बर्तन , सब्जी , किराना व मांस मछली की बड़ी दुकाने लगती हैं । वहीं सोमवार को बर्दिया गांव के ग्रामीणों ने बाजार लगने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और एसडीएम व जिला अधिकारी से शिकायत कर अवैध रूप से चल रही बाजार को बंद करवाने की मांग की है । वहीं बिछिया के ग्रामीणों ने भी उप जिलाधिकारी को पत्र लिखकर अवैध रूप से चल रही बाजार को बंद करवाने की मांग की है । बर्दिया गांव में प्रदर्शन कर रहे गांव निवासी इमरान अंसारी , सेराज अंसारी , चांदबाबू अंसारी , एल के सिंह , हरि भगवान यादव , राम मिलन चौधरी , हनुमान चौहान , नरेश कुमार , दिनेश भारगो , संजय सिंह , सुभाष गुप्ता , सुरेश गुप्ता , नरेश गुप्ता , राशिद , तनवीर अंसारी , अरबाज सलमानी , कय्यूम अंसारी , सुरेंद्र गुप्ता आदि ने बताया कि आम्बा में अवैध रूप से बाजार लगाई जा रही है । गैर जनपदीय व्यापारी दुकान लगाते हैं जिससे आसपास के दुकानदारों के व्यापार पर काफी असर पड़ता है । साथ ही बाजार में कोविड-19 के नियमों की धज्जियां भी उड़ाई जा रही हैं ।