सिद्धार्थ नगर भाजपा महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष कुमारी मोनी पांडे ने केजरीवाल की ओछी मानसिकता की निंदा की
**दुर्गेश मूर्तिकार कि रिपोर्ट**
सिद्धार्थनगर भाजपा महिला मोर्चा के जिला अध्यक्ष कुमारी मोनी पांडे ने कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल भारत सरकार द्वारा किसानों के हितों में लागू किए गए केंद्रीय कृषि विधेयक की प्रति को फाड़कर किसान विरोधी और संविधान की मर्यादा के साथ मजाक किया है और उन्होंने अपनी ओछी मानसिकता को प्रदर्शित करते हुए किसान विरोधी कार्य कर मुख्यमंत्री पद की गरिमा को खत्म किया है जिसकी मैं कड़े शब्दों में भर्त्सना करती हूं ऐसे मुख्यमंत्री को तत्काल त्यागपत्र दे देना चाहिए जो संविधान के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं निजी स्वार्थ के लिए किसानों को भड़का कर वोट बैंक की राजनीति कर रहे हैं उन्हें एक पल भी सत्ता में रहने का अधिकार नहीं है केंद्र सरकार द्वारा जो बिल पारित किया गया है उसके साथ इस प्रकार का कृत्य करना किसान विरोधी ही नहीं राष्ट्र विरोधी भी कह लाता है जो धरने पर बैठे हैं वह किसान नहीं राष्ट्र विरोधी ताकतों के संरक्षण में कार्य कर रहे हैं इसी तरह केजरीवाल ने राष्ट्रीय नागरिक कानून के तहत भी दिल्ली के शाहीन बाग में मुस्लिम समाज को भड़का कर मोदी सरकार का विरोध किया था और अब किसानों के साथ जन विरोधी कार्य करते हुए उन्हें भड़का रहे हैं भाजपा युवा नोत्री कुमारी मोनी पांडे ने कहा कि दिल्ली प्रदेश के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कृषि विधेयक को लेकर सिर्फ किसानों का विरोध नहीं बल्कि पूरे राष्ट्र का विरोध किया है मुख्यमंत्री का पद दरबार में होता है जो केंद्र सरकार कानून बनाए वह राज्य सरकार का काम रहता है लेकिन अरविंद केजरीवाल ने जो उसकी प्रतियां फाड़कर कानून के साथ खिलवाड़ किया है क्या यही मुख्यमंत्री पद की गरिमा है जिन्होंने संविधान और किसान हितैषी योजनाओं के साथ इस प्रकार का काम किया जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार किसानों के साथ हर मदद के लिए खड़ी है उनकी समस्याओं का समाधान कर रही है फिर भी कुछ ऐसे राष्ट्र विरोधी हैं जो उन्हें भड़का कर उनका भला नहीं होने दे रही है