जल जीवन के लिए अत्यंत आवश्यक- डीएम
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिया-जिलाधिकारी अमित किशोर भूगर्भ जल संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए विकास भवन गांधी सभागार में जुड़े विभागों की बैठक की। इस दौरान उन्होंने कहा कि जल के संरक्षण में प्राथमिकता होनी चाहिए किसी को भी जल का अनावश्यक ब्यय नहीं करना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि जल जीवन के लिए अत्यंत आवश्यक है यदि भूगर्भ में जल कम हो जाएगा या इसका क्षरण हो जाएगा तो इससे जीवन में अनेकों कठिनाई आ सकती हैं इसलिए अधिक से अधिक जल को बचाएं उसका संरक्षण करें इस पर विशेष रूप से सभी को कार्य करने की जरूरत है जिलाधिकारी ने कहा कि व्यवसायिक एवं उद्योगों से जुड़े संस्थानों आदि को अपना रजिस्ट्रेशन कराने के साथ ही जल के संरक्षण के संबंध में अनापत्ति प्रमाण पत्र लेनी होगी साथ ही कृषि एवं अन्य व्यक्तिगत कार्यों के लिए भी रजिस्ट्रेशन आवश्यक है। जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि आर0ओ0 प्लांट बहुतायत बिना अनुमति के चलाए जा रहे हैं इन्हें नोटिस दिए जाएं तथा उन पर कार्यवाही सुनिश्चित की जाय, जिलाधिकारी श्री किशोर ने वन विभाग के कार्यों की समीक्षा के दौरान प्लांटेशन के लक्ष्य को विभाग वार आवंटित करने एवं सभी को लक्ष्य पूर्ति हेतु पूर्व से तैयारियों को सुनिश्चित किए जाने का निर्देश दिया। उन्होंने जनपद में 9 ऐसे जगह जो 50 हेक्टेयर से अधिक के है उस पर जल संरक्षण एवं प्लांटेशन के लिये मनरेगा,राजस्व आदि को आपसी समन्वय बनाते हुवे कार्य परियोजना बनाये जाने का निर्देश दिया। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी शिव शरणप्पा जी0एन0,सी आर ओ अमृत लाल बिंद, एडीएम प्रशासन कुंवर पंकज, सीएमओ आलोक पांडेय,डी0डी0ओ0 श्रीकृष्ण पांडेय, डी0डी0 कृषि डॉ एके मिश्र, सहायक अभियंता लघु सिंचाई पंकज राय, जिला कार्यक्रम अधिकारी कृष्ण कांत राय, जिला कृषि अधिकारी मोहम्मद मुजम्मिल, अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी अशोक कुमार, आर ई एस टी एन राय, महाप्रबंधक उद्योग केके अमर, अधिशासी अभियंता जल निगम प्रदीप चौरसिया सहित सिंचाई ,बाढ़ खंड एवं अन्य जुड़े विभागों के अधिकारी आदि उपस्थित रहे।