राज्य स्तरीय टीम ने लिया अन्‍तरा और छाया का फीडबैक
वेद पाण्डेय की रिपोर्ट
-    परामर्श के लिए बनी अन्‍तरा केयर लाइन के बेहतर उपयोग के लिए दिए सुझाव -    जिला चिकित्‍सालय व नाथनगर सीएचसी के चिकित्‍सकों से भी मिली टीम *संतकबीरनगर, 19 दिसम्‍बर 2020।* प्रदेश से आई टीम ने जिले में त्रैमासिक गर्भनिरोधक अन्‍तरा इंजेक्शन व साप्ताहिक गर्भनिरोधक गोली छाया के बारे में लाभार्थियों और स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों से फीडबैक लिया। इस दौरान टीम के सदस्‍यों ने अन्‍तरा लगवाने वाली महिलाओं को निःशुल्‍क परामर्श देने वाली अन्‍तरा केयर लाइन के बेहतर उपयोग के सुझाव भी दिए। प्रदेश मुख्‍यालय से आई एबीटी एसोसिएट्स की रीजनल मैनेजर डॉ. साधना सक्‍सेना तथा इन्‍वेस्‍टीगेटर सदफ जाफरी की टीम जिला मुख्‍यालय पर पहुंची। टीम ने पहले जिला अस्‍पताल में स्‍त्री व प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ. रवि पाण्‍डेय, डॉ. शशि सिंह व डॉ. शैलजा से बात की। इस दौरान डॉ. साधना सक्‍सेना ने बताया कि परिवार नियोजन की सेवाओं को गुणवत्‍तापूर्वक देना ही हमारी प्राथमिकता है। यदि परिवार नियोजन की सेवाएं उच्‍च गुणवत्‍ता वाली होंगीं तो अधिक से अधिक लोग इन इन सेवाओं को ग्रहण करेंगे तथा उनका प्रयोग भी जारी रखेंगे। लाभार्थी अगर इन सेवाओं से सन्‍तुष्‍ट हैं तो वह खुद ही इनका प्रचार प्रसार करेंगे। परिवार नियोजन के बारे में शंकाए और भ्रान्तियां भी मिटेंगी। अन्‍तरा व छाया संबन्‍धी सेवाएं गुणवत्‍तापूर्वक प्रदान करने के लिए चार चरण आवश्‍यक हैं। काउन्सिलिंग, स्‍क्रीनिंग, विधि का सही इस्‍तेमाल करवाना तथा लाभार्थी का फालोअप करना, जिससे साइड इफेक्‍ट का सही प्रबन्‍धन हो सके। इसके लिए सेवा प्रदाताओं को सभी स्‍टैण्‍डर्ड गाइड लाइन का अनुपालन करना होगा। डॉ. साधना ने चिकित्‍सकों से इसके बारे में विस्‍तार से बात की । इसके बाद टीम नाथनगर सामुदायिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र गई जहां डॉ. विशाल यादव, डॉ. वाईपी सिंह व डॉ. राजीव सिंह से अन्‍तरा केयर लाइन के व्‍यापक प्रचार प्रसार की बात कही। इस दौरान उनके साथ आई इन्‍वेस्‍टीगेटर सदफ जाफरी ने नाथनगर में आठ तथा जिला अस्‍पताल पर पांच लाभार्थी महिलाओं से मिल रही सुविधाओं के बारे में बात की। महिलाओं ने इस बारे में सकारात्‍मक फीडबैक दिया। भ्रमण कार्यकम के दौरान उनके साथ उत्‍तर प्रदेश तकनीकी सहयोग इकाई ( यूपीटीएसयू )  की टीम भी मौजूद रही।   *जिले में लगाए गए 2010 अन्‍तरा* अप्रैल 2020 से लेकर अब तक जिले में कुल 2010 अन्‍तरा इंजेक्शन लगाए जा चुके हैं। मार्च 2021 तक 3600 महिलाओं को अन्‍तरा इंजेक्शन से आच्‍छादित करने का लक्ष्‍य है। इस लक्ष्‍य को सहजता से पूर्ण कर लिया जाएगा। महिलाओं को अन्‍तरा इंजेक्शन लगवाने पर 100 रुपए की प्रोत्‍साहन राशि भी प्रदान की जाती है। *समस्‍याओं के समाधान के लिए है केयर लाइन* अंतरा का पहला इंजेक्शन लगवाते ही लाभार्थी महिला को टॉल फ्री नंबर 1800 103 3044 पर कॉल कर अपना नाम रजिस्टर्ड करवाना है, ताकि उन्हें उसके बाद समय पर इन्जेक्शन सम्बन्धी परामर्श की सुविधा मिलती रहे। रजिस्टर्ड होने के बाद महिला को केयर लाइन से अगले इंजेक्शन की तारीख भी याद दिलायी जाती है। टॉल  फ्री नंबर पर दी गई सभी सूचनाएं गोपनीय रखी जाती है । टॉल फ्री नम्बर की सुविधा सुबह आठ से रात नौ बजे तक उपलब्ध है।