पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की जयंती के अवसर पर कृषि मेला एव़ं गोष्ठी का आयोजन
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिय-भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्व0 अटल बिहारी बाजपेयी की जयंती के अवसर पर जनपद के विकास खण्डों में कृषि मेला, गोष्ठी एवं प्रदर्शनी आयोजित किये जायेगें। इस कार्यक्रम में प्रत्येक विकास खण्ड स्तर पर 500 किसानो को प्रतिभाग कराया जायेगा, जिसमें उद्यान एवं पशुपालन से 50-50 कृषक भी प्रतिभाग करेगें। इसी प्रकार मण्डी परिसरों में भी कार्यक्रम का आयोजन संबंधित मण्डी परिषद सचिव द्वारा कराया जायेगा। गोष्ठी का कार्यक्रम पूर्वान्ह् 10.30 बजे से 11.45 तक होगा, जिसमें जनपद में क्रियान्वित की जा रही योजना तथा सरकार की उपलब्धियों की विस्तृत जानकारी दी जायेगी। कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन हेतु जनपद के सभी खण्ड विकास अधिकारियों को अपने ब्लाक का नोडल अधिकारी नामित किया गया है। इसके साथ ही संयोजक एवं पर्वेक्षीय अधिकारी भी लगाये गये है। यह कार्यक्रम कोविड-19 में दिये गये निर्देशों का पालन करते हुए आयोजित होगा।यह जानकारी जिलाधिकारी अमित किशोर ने देते हुए बताया कि प्रधानमंत्री द्वारा मध्यान्ह् 12 बजे से कृषकों को आनलाइन सम्बोधित भी किया जायेगा, जिसका सजीव प्रसारण एलईडी के माध्यम से किया जायेगा। एलईडी आदि की व्यवस्था अपने स्तर से किये जाने हेतु खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। यह कार्यक्रम साधन सहकारी समितियों, उपभोक्ता सहकारी समितियों, जिला सहकारी बैंक आदि संसथाओं में भी आयोजित किया जायेगा। विकास खण्ड स्तर पर पशुपालन विभाग के तैनात कार्मिक भी इस कार्यक्रम में प्रतिभाग करेगें तथा पशुपालन डेयरी वमत्स्य पालन से जुडे कृषकों से भी विकास खण्ड स्तरीय गोष्ठी में प्रतिभाग करायेगें। गन्ना विभाग भी अपनी सभी समितियों पर आयोजित करायेगें व विकास खण्ड स्तर पर गन्ना कृषकों को भी गोष्ठी में प्रतिभाग करायेगें। दुग्ध विकास विभाग द्वारा जनपद में स्थापित दुग्ध कलेक्शन सेन्टर पर भी कार्यक्रम आयोजित करायेगें। विकास खण्डों एवं मण्डी परिसर में आयोजित हो रहे किसान मेला, गोष्ठी एवं प्रदर्शनी में अपने-अपने विभाग से किसानो को प्रतिभाग कराने व स्टाल लगाने के निर्देश संबंधित विभाग के अधिकारियों को दिया गया है। उप कृषि निदेशक डा0ए0के0 मिश्र ने कार्यक्रम आयोजन के तैयारियों को लेकर बताया कि सभी विकास खण्डों पर किसान गोष्ठी आयोजित होगी। मा0प्रधानमंत्री जी के कार्यक्रम का सजीव प्रसारण होगा। विभिन्न विभागो के स्टाले लगायी जायेगी व किसानो की आय व उत्पादकता बढे इसके लिये कृषि वैज्ञानिकों द्वारा तकनीकी जानकारी दी जायेगी।