रामपुर सांसद व सपा नेता आजम खां की विधायक पत्नी डॉ. तजीन फातिमा सोमवार को जिला कारागार से रिहा हो गईं
रिपोर्ट पी एन वर्मा ब्यूरो सीतापुर सीतापुर : रामपुर सांसद व सपा नेता आजम खां की विधायक पत्नी डॉ. तजीन फातिमा सोमवार को जिला कारागार से रिहा हो गईं। वह अपने पति व छोटे बेटे के साथ जेल में 298 दिन रहीं। बुजुर्ग विधायक जेल के महिला बैरक में थीं। अभी उनके पति आजम खां व बेटे अब्दुल्ला आजम सीतापुर जेल में ही हैं। जेल प्रशासन ने काफी सुरक्षा व्यवस्था के बीच इन्हें सोमवार शाम 7.25 बजे जेल से रिहा किया। 70 वर्षीय महिला विधायक की रिहाई पर उनकी बहन तनवीर फातिमा और बड़े बेटे अदीब आजम व बहू सिदरा के साथ दोनों पोतियां भी आई थीं। हालांकि, इस दौरान परिवारजन ने मीडिया से कोई बात नहीं की। डॉ. तजीन की रिहाई पर गाजियाबाद के एमएलसी आशु मलिक भी जिला कारागार पहुंचे। जेल अधीक्षक डीसी मिश्र ने बताया कि कोर्ट से जमानत का आदेश मिलने के उपरांत प्रक्रिया पूरी डॉ. तजीन को रिहा कर दिया गया है। चौथी बार कोविड टेस्ट में निगेटिव जिला कारागार अस्पताल के डॉ. पीयूष पांडेय ने बताया, सांसद आजम खां व उनकी पत्नी डॉ. तजीन फातिमा व बेटे अब्दुल्ला का चौथा कोविड टेस्ट भी निगेटिव आया है। इन लोगों को चौथा कोविड टेस्ट 13 दिसंबर को हुआ था। इसकी रिपोर्ट 15 दिसंबर को आई थी। इससे पहले इन तीनों के तीन कोविड टेस्ट हुए हैं। सभी में इनकी रिपोर्ट निगेटिव ही रही है। रिहाई का आदेश आने के बाद जुटे थे समर्थक रिहाई का आदेश आने के बाद सोमवार शाम करीब पांच बजे से ही सीतापुर जेल के बाहर काफी हलचल थी। समर्थक जुटे थे। यही नहीं, मीडिया का भी जेल के बाहर जमावड़ा लगा रहा। जेल में नहीं की किसी से बात रिहाई के बाद जेल के बाहर आईं विधायक डॉ. तजीन फातिमा को समर्थकों के साथ ही मीडिया ने भी घेर लिया। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से बातचीत होने के एक सवाल पर उन्होंने कहा कि जेल में न तो उनकी किसी से बात हुई और न ही आजम खां की।