155 वर वधू की सामूहिक शादी में आज बजी शहनाई*
जिला प्रभारी राजीव कुमार पांडेय की रिपोर्ट गाजीपुर। गाजीपुर के तत्वाधान में शुक्रवार को 15 महीने बाद जिले में फिर से मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह की शहनाई बजी। बीते वर्ष 2019 में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन किया गया था। इसके बाद विभाग की ओर से मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह का कार्यक्रम कोरोना संक्रमण काल में नहीं किया गया। इसके बाद विभाग की ओर से सितंबर अक्टूबर में सामूहिक विवाह का आयोजन प्रस्तावित था, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते विभाग की ओर से टाल दिया गया। इसके बाद संक्रमण के खतरे के चलते आयोजन नहीं किया जा सका। दो माह पहले शासन ने मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह के आयोजन के आदेश दिए थे। इसके बाद समाज कल्याण विभाग ने आवेदन मांगे थे। जिस पर समाज कल्याण विभाग की ओर से सभी विकास खंड़ों में आवेदन लेने के लिए निर्देश दिए गए थे। जनपद में आए आवेदनों की तहसील स्तर से जांच कराई भी कराई गई है। इसे लेकर समाज कल्याण विभाग व जिला पंचायत की ओर से तैयारी की गई है। इस कार्यक्रम के अंतर्गत 155 शादियां हुई, शादियां पूरी धूम धाम से हुई वहीं शादी के दौरान शासन की ओर कोविड-19 से बचाव के लिए जारी की गई गाइडलाइन का पालन किया गया। प्रत्येक जोड़े पर 51 हजार हुए खर्च मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत शासन से प्रत्येक जोड़े के लिए 51 हजार रुपये का बजट दिया जाता है। इसमें से छह हजार रुपये विवाह के आयोजन पर खर्च किए जाते हैं। वहीं 10 हजार रुपये का सामान विवाह में उपहार स्वरूप दिया जाता है। बाकी बचे 35 हजार रुपये वधू के खाते में जमा करा दिए जाते हैं। नारी का सम्मान होना चाहिए, नारी दुर्गा है नारी काली है: अलका राय इस मौके पर मुहम्मदाबाद क्षेत्र से विधायिका अलका राय ने कहा कि नारियों का सम्मान होना चाहिए, नारी है तो कल है, नारी दुर्गा है, नारी काली है। इस युग में नारी की पूजा सिर्फ तस्वीर के रूप में ही होता है। हमें नारियों के प्रति सम्मान की भावना रखनी चाहिए। आगे उन्होंने कहा इस भव्य सामूहिक विवाह के सभी वर वधुओ के दूसरे अध्याय में प्रवेश किए जाने पर शुभकामनाए एवं बधाई देती हूं। वहीं इस मौके पर मुख्य अतिथि आनंद स्वरूप शुक्ला ने कहा कि नारी का सम्मान करना, माँ का सम्मान करना हैं, माँ का सम्मान करना, भगवान् का सम्मान करना हैं, जो व्यक्ति सच्चे दिल से भगवान् का सम्मान करता हैं, वही आनन्द से भरा हुआ जीवन जीता हैं, नारी की करूणा अंतर्जगत का उच्चतम विकास है जिसके बल पर समस्त सदाचार ठहरे हुए हैं। मौके पर मुख्य अतिथि आनन्द स्वरूप शुक्ला, अति विशिष्ट अतिथि वीरेन्द्र सिंह (मस्त ) सांसद लोकसभा क्षेत्र- बलिया, विशिष्ट अतिथिगण- की विशाल सिंह (चंचल), अलका राय विधायक विधान सभा क्षेत्र मुहम्मदाबाद, सुनीता सिंह विधायक विधान सभा क्षेत्र जमानिया मौजूद थे।