पीएम फसल बीमा योजना, आपदा में किसानों का साथी, जानें कैसे उठाएं इसका फायदा
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया-उप कृषि निदेशक डॉ एके मिश्र जनपद के कृषकों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लाभ लेने के क्रम में सूचित किया है कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना रबी 2020-21 मौसम में प्रदेश के समस्त जनपदों में संचालित कराई जा रही है । रवि मौसम की सभी प्रमुख फसलें यथा गेहूं, चना, मसूर,लाही, सरसों, अलसी आदि को ग्राम पंचायत स्तर पर अधिसूचित किया गया है। कवर किए गए जोखिम में मध्य अवस्था के अंतर्गत सूखा अथवा शुष्क स्थिति बाढ़ और भूस्खलन तूफान चक्रवात जलभराव आकाशीय बिजली से उत्पन्न आग एवं रोके न जा सकने वाले अन्य जोखिमों रोगो कृमियो से क्षति की स्थिति एवं स्थानिक आपदाओं के अंतर्गत खड़ी फसलों को ओलावृष्टि के अनुसार बीमा कंपनियों द्वारा तत्काल सहायता के रूप में क्षतिपूर्ति भुगतान की जाती है तथा मौसम के अंत में फसल कटाई के प्रयोगों के आधार पर फसल की आकलित कुल देय की क्षतिपूर्ति की धनराशि में तत्कालीन रूप से भुगतान की गई धनराशि को समायोजित किया जाता है। श्री मिश्र ने कहा कि सभी बीमित कृषको को घटना के 72 घंटे के अंदर घटना की सूचना बीमा कंपनी के टोल फ्री नंबर 1800 8896 868 अथवा संबंधित बैंक शाखा एवं जनपद के कृषि अथवा राजस्व विभाग के किसी भी स्तर के अधिकारी अथवा ग्राम प्रधान अथवा क्षेत्र के पंचायत सदस्य के माध्यम से व्यक्तिगत दावा बीमा कंपनी को प्रस्तुत किया जाना आवश्यक है तदुपरांत बीमा कंपनी द्वारा जनपद स्तर पर गठित समिति कृषि राजस्व एवं बीमा कंपनी के अधिकारी द्वारा आपदा प्रभावित क्षेत्र में संयुक्त सर्वेक्षण के आधार पर फसलों की क्षति की आंकलित रिपोर्ट के अनुसार बीमित कृषकों को क्षतिपूर्ति दिए जाने का प्राविधान है ।