सामाधान दिवस में पहुंचे नायब तहसीलदार और इंस्पेक्टर के बीच हुआ विवाद
बिछिया बहराइच से अभयजीत प्रजापति की रिपोर्ट
*लेखपाल संघ ने लगाया एसएचओ सुजौली पर मजिस्ट्रेट को कुर्सी न देने एंव अभद्र व्यवहार करते हुये थाना परिसर से भगा देने का आरोप* सुजौली बहराइच। तहसील मिहींपुरवा अन्तर्गत थाना सुजौली में समाधान दिवस की अध्यक्षता करने पहुंचे नायब तहसीलदार विनीत सिंह ने एसएचओ सुजौली पर अभद्र व्यवहार कर समाधान दिवस में अपमानजनक व्यवहार करने का आरोप लगाया। नायब तहसीलदार के अपमान से क्षुब्ध लेखपाल संघ समेत कई राजस्वकर्मियों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए थाना परिसर में ही धरना देना शुरू कर दिया। धरने पर बैठे राजस्वकर्मियों का कहना है कि समाधान दिवस में मजिस्ट्रेट के रूप में तहसीलदार को पहुंचना थापर तहसीलदार अवकाश पर थे इस कारण नायब तहसीलदार को मजिस्ट्रेट बना कर थाना सुजौली भेजा गया था किन्तु समाधान दिवस पर पहुंचने पर समाधान दिवस की अध्यक्षता करने वाले मजिस्ट्रेट को जो सम्मान मिलना चाहिये वह नही दिया गया शनिवार को समाधान दिवस पर मजिस्ट्रेट नियुक्त होकर थाना सुजौली में समाधान दिवस की अध्यक्षता करने पहुंचे नायब तहसीलदार विनीत सिंह ने थानाध्यक्ष सुजौली विनय कुमार सरोज पर अभद्र व्यवहार करने तथा मजिस्ट्रेट को बैठने हेतु कुर्सी न देते हुये थाना परिसर से भगा देने का आरोप लगाया उन्होने कहा कि थानेदार के अभद्र व्यवहार से हम सभी काफी आहत हैं। उक्त प्राकरण पर एसएचओ सुजौली विनय कुमार सरोज ने कहा कि राजस्व कर्मियों की ओर से लगाया जा रहे आरोप गलत है उन्होंने कहा किसी को भी थाने परिसर से नही भगाया गया है। समाधान दिवस के बीच में पहुंचे नायब तहसीलदार को मुख्य कुर्सी न मिल पाने के कारण ये बिवाद शुरु हुआ।