विश्‍व स्‍तर पर सराही गई प्रदेश की स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं, कोविड टीकाकरण में जुटें - जय प्रताप सिंह*
- स्‍वास्‍थ्‍य मन्‍त्री जय प्रताप सिंह ने ब्‍लाक पीएचसी बघौली में किया स्‍वास्‍थ्‍य मेले का उदघाटन - स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं के बारे में ली जानकारी, बेहतरी के लिए अधिकारियों को दिए दिशा निर्देश *संतकबीरनगर, 10 जनवरी 2021।* स्‍वास्‍थ्‍य व परिवार कल्‍याण मन्‍त्री जय प्रताप सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान प्रदेश सरकार के द्वारा की गई स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं को विश्‍व स्‍तर पर सराहना मिली है। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने यह माना कि कोविड - 19 जैसी महामारी से निबटने के लिए उत्‍तर प्रदेश में जिस तरह से स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं का नियोजन किया गया था वह सबसे अलग और बेहतर था। घर के नजदीक जन जन तक स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं को पहुंचाने के लिए स्‍वास्‍थ्‍य मेले का आयोजन पुन: शुरु किया गया है। शुरुआती 5 स्‍वास्‍थ्‍य मेलों में ही हमने 25 लाख से अधिक मरीजों का उपचार किया था। उनके द्वार पहुंचकर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा प्रदान की थी। यह मेला समाज के अन्तिम व्‍यक्ति तक स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा पहुंचाने का उचित माध्‍यम साबित होगा। यह बातें उन्‍होंने ब्‍लाक प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र बघौली में आयोजित मुख्‍यमन्‍त्री जन आरोग्‍य स्‍वास्‍थ्‍य मेले के उदघाटन अवसर पर उपस्थित आमजन को सम्‍बोधित करते हुए कहीं। उन्‍होने आगे कहा कि अब सभी लोग कोरोना टीकाकरण की तैयारियों में जुटें तथा पूरी पारदर्शिता, निष्‍पक्षता और निष्‍ठा से इस काम को पूरा करके प्रदेश को इस महामारी से मुक्‍त करने की दिशा में कार्य करें। उन्‍होने गोल्‍डेन कार्ड की महत्‍ता के बारे में बताया तथा गर्भवती महिलाओं के परीक्षण के लिए चलाई जा रही योजनाओं के बारे में लोगों को बताते हुए यह जानकारी दी कि जो भी स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं प्रदेश सरकार के द्वारा दी जा रही हैं उनको जन जन तक पहुंचाएं। स्‍वास्‍थ्‍य मन्‍त्री ने आगे कहा कि स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं को जन जन तक पहुंचाने में धन की कमी आड़े नहीं आएगी। नई नियुक्तियां की जा रही हैं, विशेषज्ञ चिकित्‍सक रखे जा रहे हैं, टेलीमेडिसिन की व्‍यवस्‍था भी की गई है। क्षय रोग उन्‍मूलन अभियान कोरोना के दौरान काफी पीछे हो गया है। उन्‍होने जन सामान्‍य से यह अनुरोध किया कि इसमें पूरी तन्‍मयता के साथ जुड़कर क्षय रोगियों की खोज करें तथा उनको अस्‍पताल तक पहुंचाकर उनका इलाज करवाएं। इस दौरान मेंहदावल के विधायक राकेश सिंह बघेल ने कहा कि जनकल्‍याणकारी नीतियों को लेकर प्रदेश सरकार बेहतर कार्य कर रही है। उन्‍हीं जनकल्‍याणकारी नीतियों में से एक है यह आरोग्‍य मेला। अपर निदेशक स्‍वास्‍थ्‍य डॉ सी के शाही ने कहा कि हम स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं को निरन्‍तर बेहतर बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। निरीक्षण और सहयोगात्‍मक पर्यवेक्षण के जरिए हम स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा में सुधार ला रहे हैं। मुख्‍य चिकित्‍साधिकारी डॉ हरगोविन्‍द सिंह ने कहा कि जनपद में मेला के दौरान शत प्रतिशत स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों की उपस्थिति रही। इसे सफल बनाने में फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ ही जन जन के योगदान की जरुरत है। इस दौरान एसीएमओ डॉ मोहन झा, प्रभारी चिकित्‍साधिकारी डॉ सियाराम, स्‍त्री रोग विशेषज्ञ डॉ मनीषा शाही, टीबी कन्‍सल्‍टेण्‍ट कविता पाठक, बीपीएम दिव्‍या श्रीवास्‍तव, बीसीपीएम श्रीमती नन्दिनी राय के साथ ही साथ अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य कर्मी भी मौजूद रहे। *ड्राई रन व टीकाकरण के बारे में ली जानकारी* इस दौरान उन्‍होने सीएमओ डॉ हरगोविन्‍द सिंह से 11 जनवरी को कोरोना टीकाकरण के लिए होने वाले दूसरे ड्राई रन के बारे में जानकारी ली। वे बघौली प्रथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र के वैक्‍सीन स्‍टोर में भी गए। वहां पर उन्‍होने वैक्‍सीन मैनेजर ईविन सुशील मौर्या से कोल्‍ड चेन मेण्‍टीनेन्‍स तथा टीकाकरण के बारे में आवश्‍यक जानकारियां प्राप्‍त की। उन्‍होने जाना कि किस तरह से कोल्‍ड चेन को मेण्‍टेन किया जाएगा। सीएमओ को उन्‍होने यह निर्देश दिया कि ड्राई रन के दौरान ही सारी कमियों को पूरा कर लिया जाय। कोविड टीकाकरण में कोई भी लापरवाही बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी। *1847 मरीज देखे गए, 40 गोल्‍डेन कार्ड बने* इस दौरान जिले की कुल 23 स्‍वास्‍थ्‍य इकाइयों पर कुल 1847 मरीजों की जांच की गई। इनमें  पुरुष 662, महिलाएं 933 तथा बच्‍चों की संख्‍या 252 थी। रोगियों में त्‍वचा रोग के सबसे अधिक 327 रोगी मिले। जबकि सांस के 201, मधुमेह के 131, ब्‍लड प्रेशर के 117, एनीमिया के 48 मरीज मिले। 889 मरीज अन्‍य रोगों से सम्‍बन्धित रहे। वहीं आयुष्‍मान भारत के कुल 40 गोल्‍डेन कार्ड भी बनाए गए। *इन प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्रों पर गए स्‍वास्‍थ्‍य म‍न्‍त्री* ब्‍लाक पीएचसी बघौली पर स्‍वास्‍थ्‍य मेले का उदघाटन करने के लिए आए स्‍वास्‍थ्‍य मन्‍त्री जय प्रताप सिंह जनपद के मेहदावल क्षेत्र में स्थित प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र परसा पाण्‍डेय, बखिरा तथा नगरीय प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र वहां पर जाकर उन्‍होने स्‍वास्‍थ्‍य मेले का औपचारिक उदघाटन किया। *अरबन पीएचसी कांशीराम आवास के लिए भूमि का प्रस्‍ताव* नगरीय प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्र कांशीराम आवासीय योजना में पहुंचे स्‍वास्‍थ्‍य मन्‍त्री को पता चला कि यह केन्‍द्र किराए की जगह पर चल रहा है तो उन्‍होने सीएमओ डॉ हरगोविन्‍द सिंह तथा एसीएमओ डॉ मोहन झा से इस बावत बात किया। अधिकारियों ने बताया कि वहां पर जमीन के लिए जिलाधिकारी ने आश्‍वासन दिया है। तभी वहां पर पहुंचे स्‍थानीय सभासद ने कहा कि उसके क्षेत्र में 6 बिस्‍वा जमीन सरकारी है। उसका प्रस्‍ताव बनाकर वह दे सकता है। इसके बाद स्‍वास्‍थ्‍य मन्त्री ने सीएमओ से कहा कि वह कल जाकर उस जमीन को देखें तथा प्रस्‍ताव बनवाकर भेजें। शासन से धन अवमुक्‍त कराया जाएगा। *अरबन पीएचसी में सुविधाओं का लिया जायजा* निरीक्षण कार्यक्रम के दौरान वे सबसे अ‍न्‍त में अरबन पीएचसी कांशीराम आवासीय योजना पहुंचे। वहां पर उन्‍होने स्‍वास्‍थ्‍य मेले में आने वाले मरीजों तथा उनको मिलने वाली सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्‍त किया। उन्‍होने वहां पर मौजूद लोगों से मेले के बारे में फीडबैक भी लिया। लोगों ने बताया कि यह मेला बहुत ही लाभकारी है।  जनपद संत कबीर नगर का निरीक्षण किया गया निरीक्षण के दौरान अपर निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण बस्ती मंडल बस्ती डॉ सी के शाही, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ हरगोविंद सिंह, एसीएमओ डॉ मोहन झा, डॉ बीपी पांडे, डॉ ए के सिन्हा, डिविजनल कंसलटेंट राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन दिनकर पर्वत, एवं डिविजनल क्वालिटी कंसलटेंट डॉ अजय कुमार, जनपदीय अर्बन हेल्थ कोऑर्डिनेटर सुरजीत सिंह, डाटा कम अकाउंट असिस्टेंट बृजेश कुमार के साथ-साथ वहां के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ श्रुति श्रीवास्तव, फार्मासिस्ट मनोज मिश्रा, स्टाफ नर्स सुष्मिता पांडे, एनम रीता राय, जाया वर्मा एवं सरिता भारती एवं अन्य स्टाफ उपस्थित रहे।