अनुशासन, दृढ़ निश्चय और कठिन परिश्रम से लक्ष्य प्राप्त करें विद्यार्थी-शिवेन्द्र कुमार मिश्र
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
आज जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया के तत्वावधान में राजकीय इण्टर काॅलेज देवरिया में विद्यार्थियों को विधिक साक्षरता एवं कैरियर काउंसिलिंग हेतु शिविर का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया के सचिव न्यायाधीश शिवेन्द्र कुमार मिश्र रहें। राजकीय इण्टर काॅलेज के प्रधानाचार्य प्रदीप शर्मा ने न्यायाधीश को पुष्प गुच्छ एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। न्यायाधीश ने विद्यार्थियों को विधिक साक्षरता में उनके मूल अधिकारों तथा मूल कर्तव्यों के बारे में अवगत कराया। उन्होंने कहा कि भारतीय संविधान में विद्यार्थियों को शिक्षा के अधिकार को मूल अधिकारों में रखा गया हैं, यह भारत के 6 वर्ष से 14 वर्ष के विद्यार्थियों को शिक्षा पाने की स्वतंत्रता देता हैं। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि आप अपने मूल अधिकारों से अधिक अपने मूल कर्तव्यों के प्रति जागरूक रहें क्योंकि आप अपने दायित्वों के आधार पर ही देश के उन्नति में अपना बहुमूल्य योगदान दे सकते हैं। यदि किसी भी प्रकार के आपसी विवाद होते हैं तो उन्हें आप बात-चीत के माध्यम से सुलझाये, जिससे आपके समय और धन दोंनो की बचत होंगी। यदि किसी भी व्यक्ति को विधिक सहायता की आवश्यकता होती हैं तो वह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया में एक प्रार्थना पत्र देकर निःशुल्क विधिक सहायता प्राप्त कर सकता हैं। इस दौरान न्यायाधीश ने विद्यार्थियों के कैरियर काउंसिलिंग पर व्यापक स्तर पर चर्चा की जिसमें बच्चों ने अपने भविष्य के लक्ष्य को न्यायाधीश के साथ साझा की, जिसमें कई बच्चों ने न्यायिक अधिकारी, आई0ए0एस0, चिकित्सक, अध्यापक तथा सैनिक बनने की बात बतायी। न्यायाधीश ने विद्यार्थियों को उनके लक्ष्यों के प्राप्ति हेतु उनसे संबंधित विषयों पर चर्चा करते हुये, भिन्न-भिन्न तरह की पढ़ाई करने की बात बतायी। विद्यार्थियों ने संबंधित जानकारी को अपने डाॅयरी में लिखी। न्यायाधीश ने कहा कि आपका लक्ष्य चाहे जो भी हो, उसे बड़े ही सिद्दत के साथ पूर्ण करें, आप अपने अनुशासन, दृढ़ निश्चय, कठिन परिश्रम और सतत प्रयास से कोई भी लक्ष्य को आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। न्यायाधीश ने विद्यार्थियों को भारतीय संविधान के मूल अधिकारों तथा मूल कर्तव्यों के प्रति शपथ दिलाया तथा राष्ट्र के सर्वांगीण विकास में अपने योगदानों के प्रति एक साथ आगे आने का आह्वान किया। राजकीय इण्टर काॅलेज देवरिया के प्रधानाचार्य प्रदीप शर्मा ने न्यायाधीश का धन्यवाद ज्ञापित करते हुये विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुये पढ़ाई पर ध्यान देने की बात कहीं। उन्होंने विद्यार्थियों को बिना फल के निःस्वार्थ भाव से पढ़ाई करने की बात बतायी। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से राजकीय इण्टर काॅलेज के प्रधानाचार्य प्रदीप शर्मा, प्रवक्ता गोविन्द सिंह, योगेन्द्र नाथ मिश्र, श्वाती तिवारी, सहायक अध्यापक पुष्पा, स्काउट अध्यापक रमाकान्त मिश्र, डाॅ विकास मणि त्रिपाठी, डाॅ सुनैना वर्मा तथा सैकड़ों की संख्या में छात्र एवं छात्राएं उपस्थित रहें।