जेई व कोविड टीकाकरण पर दें विशेष ध्‍यान,  पात्रों को करें लाभान्वित
- जिला स्‍वास्‍थ्‍य समिति शासी निकाय की मासिक बैठक में जिलाधिकारी ने दिए निर्देश
- मातृ वन्‍दना, आयुष्‍मान भारत व कन्‍या सुमंगला योजना में लापरवाही बर्दाश्‍त नहीं
*संतकबीरनगर, 24 फरवरी 2021।* डीएम दिव्‍या मित्‍तल ने कहा कि जापानी इंसेफेलाइटिस व कोविड के टीकाकरण में कोई भी लापरवाही न बरतें। इसके अन्‍तर्गत जो भी पात्र व्‍यक्ति हों उनको लाभान्वित करें। कोई भी पात्र व्‍यक्ति छूटना नहीं चाहिए। यह प्रदेश सरकार की प्रमुख योजनाओं में से हैं। इसमें लापरवाही कतई बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी। अभी तक की जनपद की प्रगति संतोषप्रद है और इसे निरन्‍तरता में बनाए रखें। यह बातें उन्‍होने जिला स्‍वास्‍थ्‍य समिति शासी निकाय की मासिक बैठक के दौरान स्‍वास्‍थ्‍य व पोषण की योजनाओं की समीक्षा करते हुए कहीं। उन्‍होने कहा कि प्रधानमन्‍त्री मातृ वन्‍दना योजना, आयुष्‍मान भारत योजना, कन्‍या सुमंगला योजना, परिवार कल्‍याण योजना के साथ ही जननी सुरक्षा योजना व एचआरपी डे को लेकर स्‍वास्‍थ्‍य इकाइयों पर सक्रियता बनाए रखें। योजनाओं से जन जन को आच्‍छादित करना ही हमारा लक्ष्‍य होना चाहिए। पोषण के बारे में बात करते हुए डीएम ने कहा कि आंगनबाड़ी द्वारा चिन्हित किए गए बीमार व कुपोषित तथा अति कुपोषित बच्‍चों को उचित स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं दें। वहीं गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच तथा आवश्‍यक प्रबन्‍धन में कोई भी लापरवाही न करें। इसमें आशा कार्यकर्ता, एएनएम व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का सहयोग लें और बेहतर प्रबन्‍धन करें। इसके लिए उन्‍होंने जिला कार्यक्रम अधिकारी विजयश्री को कड़े निर्देश दिए। विजयश्री ने एनआरसी में 13 बच्‍चों को इस माह दाखिल कराने की बात कही। सीएमओ डॉ हरगोविन्‍द सिंह ने बताया कि योजनाओं का शत प्रतिशत क्रियान्‍वयन किया जा रहा है। डाटा वैलिडेशन की समस्‍या कई कार्यक्रमों में एक ही व्‍यक्ति की सहभागिता के चलते हो रही है। इसको दूर करने के उपाय किए जा रहे हैं। 50 वर्ष से ऊपर की आयु के लोगों के कोरोना टीकाकरण की कार्ययोजना बनाई जा चुकी है। इसके तहत ढाई लाख लोगों को चिन्हित किया गया है। एसीएमओ डॉ मोहन झा ने स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण की योजनाओं को बेहतर तरीके से चलाए जाने के महत्‍वपूर्ण सुझाव दिए। इस दौरान जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ एस रहमान, क्षय रोग अधिकारी डॉ एस डी ओझा, सीएमएस डॉ ओ पी चतुर्वेदी, एसीएमओ वेक्‍टर बार्न डॉ वी पी पाण्‍डेय, जिला मलेरिया अधिकारी अंगद सिंह, वीपीएम विनीत श्रीवास्‍तव, बीसीपीएम संजीव सिंह, यूनीसेफ के बेलाल अनवर, जिला वैक्‍सीन मैनेजर इविन व यूएनडीपी सुशील मौर्या, आरकेएसके समन्‍वयक दीनदयाल वर्मा, सभी ब्‍लाकों के प्रभारी चिकित्‍साधिकारीगण, बीपीएम, बीसीपीएम तथा अन्‍य लोग उपस्थित रहे। *महिलाओं को परिवार नियोजन के लिए करें प्रेरित* जिलाधिकारी दिव्‍या मित्‍तल ने सभी स्‍वास्‍थ्‍य अधिकारियों से कहा कि गर्भवती महिलाओं को प्रसव के बाद परिवार नियोजन के लिए प्रेरित करें। जब किसी महिला का प्रसव हो जाए तो उसे आईयूसीडी लगवाने के लिए कहें। त्रैमासिक गर्भनिरोधक अंतरा और छाया तथा अन्‍य अस्‍थायी गर्भनिरोधकों के बारे में भी लोगों को निरन्‍तर प्रेरित करते रहें कि वे इन्‍हें अपनाएं। *आशा कार्यकर्ताओं का हो शत प्रतिशत भुगतान* डीएम ने कहा कि आशा कार्यकर्ता स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की रीढ़ हैं। उन्‍हें कोई भारी भरकम धनराशि नहीं मिलती है। उनके द्वारा किए गए कार्यों के प्रोत्‍सा‍हन के लिए ही धनराशि दी जाती है। इसलिए उनके सभी देयकों का भुगतान अवश्‍य करें। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के एकाउण्‍ट मैनेजर दारा सिंह ने बताया कि बैंक की गड़बड़ी के चलते धनराशि नहीं जा पाई। फिर उनको रिमाइण्‍डर भेजा गया है।