पूर्वांचल स्क्सप्रेस -वे की कार्य प्रगति का किया निरिक्षण सीएम
जिला प्रभारी राजीव कुमार पांडेय की रिपोर्ट गाजीपुर । पूर्वांचल एक्‍सप्रेस-वे के निर्माण कार्यों के निरीक्षण के लिए पूर्वांचल के गाजीपुर और आजमगढ़ समेत संबंधित जिलों के दौरे पर निकले मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने सोमवार को आम जन से संवाद करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के सर्वांगीण विकास की जो धारा बहाई है, उसी का परिणाम सामने है कि ‘‘हम पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर खड़े हैं.” योगी ने कहा कि पूर्वांचल एक्‍सप्रेस वे के बन जाने के बाद गाजीपुर के लोग तीन घंटे में लखनऊ और 10 घंटे में दिल्ली पहुंच सकेंगे. कमर तोड़ रहे हैं माफियाओं की मुख्यमंत्री ने आज पूर्वाह्न जिला मुख्यालय से 40 किमी दूर कासिमाबाद तहसील के धरवारकला गांव में स्थित पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की प्रगति की समीक्षा करने के बाद जनता से बातचीत करते कहा, 'उत्तर प्रदेश में माफिया ने पूरे विकास की गति को अवरुद्ध कर दिया था. अब सरकार उनकी अवैध संपत्ति को जब्‍त कर उनकी कमर तोड़ रही है, जिससे विकास कार्यों को पूरी गति मिली है.' योगी ने दावा किया ' माफ‍िया के विरुद्ध अभियान जोर-शोर से जारी रहेगा और उत्तर प्रदेश में माफिया को रहने नहीं दिया जाएगा.' मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आदेश दिया कि वह सरकारी योजनाओं, परियोजनाओं का काम समय के भीतर पूरा कर उसका लाभ आमजन तक पहुंचाएं, जिससे लोगों को व्यवहारिक लाभ मिले. लोगों को बताएं जनहितकारी योजनाएं उन्होंने जन प्रतिनिधियों से अपील की कि वह सरकार के जनहितकारी कार्यों को जन-जन तक पहुंचाएं, जिससे उत्तर प्रदेश की विकास वाली छवि लोगों के सामने आये. मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव, गरीब किसान, महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकार हर तरह से सक्रिय है. आजमगढ़ से मिली खबर के अनुसार, मुबारकपुर क्षेत्र से होकर गुजर रहे निर्माणाधीन पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का योगी आदित्यनाथ ने स्थलीय निरीक्षण किया. उन्होंने एक्सप्रेस-वे पर ही बन रहे अंडरपास का भी निरीक्षण किया. इसके बाद यूपीडा, पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. अप्रैल में पीएम करेंगे उद्धाटन बैठक के बाद एक्सप्रेस-वे पर ही एक जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा कि एक्सप्रेस-वे का निमार्ण कार्य तेजी के साथ चल रहा है. मार्च 2021 तक एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य पूरा हो जायेगा और अप्रैल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इसका उद्घाटन करेंगे. उन्होंने कहा कि कोविड के बावजूद तीन साल की समय सीमा के अंदर ही एक्सप्रेस-वे को जनता को समर्पित किया जा रहा है. विकास का यह मॉडल देश और दुनिया के लिए आकर्षण का केन्द्र बनेगा. आजमगढ़ बना विकास का मॉडल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चार साल पहले आजमगढ़ की छवि काफी खराब थी. यहां के लोगों को बाहर किराये पर कमरे नहीं मिल रहे थे, लेकिन चार वर्ष बाद स्थित बदल गयी है और अब आजमगढ़ विकास का मॉडल बन रहा है. उल्‍लेखनीय है कि जुलाई 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आजमगढ़ में पूर्वांचल एक्‍सप्रेस-वे की आधारशिला रखी थी. सरकार के प्रवक्‍ता के अनुसार, करीब 340 किलोमीटर लंबा यह एक्‍सप्रेस वे लखनऊ से बाराबंकी, अमेठी, अयोध्‍या, सुल्‍तानपुर, अंबेडकरनगर, आजमगढ़ और मऊ जिलों से होते हुए गाजीपुर तक बन रहा है.