दीन-दुखियों की सेवा करने से मन को मिलती है शांति :-सुबाष सिंह
सुभाष सिंह की रिपोर्ट
अपनी दोनों आंखे गंवा चुकी गरीब बच्ची को मातृभूमि सेवा ट्रस्ट की ओर से की गई आर्थिक मदद:- सेमरा, शहाबगंज चन्दौली। 26.2.2021 मातृभूमि सेवा ट्रस्ट के संचालक श्री सुबाष विश्वकर्मा ने कहा कि दीन-दुखियों की सेवा करने से जहां मन को शांति मिलती है, वहीं जरूरतमंदों को सहायता भी मिल जाती है। साथ ही देश के विकास में भी महत्वपूर्ण योगदान हो जाता है।श्री सुबाष विश्वकर्मा मातृभूमि सेवा ट्रस्ट के तत्वावधान कम्युनिटी पुलिसिंग के अन्तर्गत पुलिस अधीक्षक अमित कुमार की पहल पर आर.के नेत्रालय महमूरगंज वाराणसी द्वारा आयोजित निशुल्क नेत्र चिकित्सा शिविर में अपना विचार व्यक्त कर रहे थे। श्री सुबाष विश्वकर्मा ने कहा कि दानशीलता की परंपरा भारतीय संस्कृति की पुरातन और वैभवशाली परम्परा है। भारतीय इतिहास में राजा बलि और कर्ण की दानशीलता जैसे कई उदाहरण मिलते हैं, जो हमें मानव कल्याण के लिए सर्वस्व न्यौछावर करने की प्रेरणा देते हैं। वर्तमान समय में आपाधापी की जिंदगी में दान देने की अपनी महान संस्कृति को भूलते जा रहे हैं। जब कोई गरीब व्यक्ति को इलाज कराने के लिए दूर के अस्पताल में जाना पड़ता है, तो उसके सामने ठहरने और खाने की बड़ी समस्या आ जाती है।हम सभी ने गरीबों की हर बेबसी को ध्यान में रखकर अपनी सेवाओं का विस्तार किया है।आज शिविर में श्री अछैबर चौहान ने मातृभूमि सेवा ट्रस्ट के लिए सेवा गीत गाकर उपस्थित लोगों को अभिभूत कर दिया।राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ चकिया की अध्यक्ष सुश्री रीता पाण्डेय ने कहा कि मातृभूमि सेवा ट्रस्ट के लोग लगातार गरीब दीन दुखियों की सेवा के लिए हमेशा आगे रहे हैं। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को अपनी सामर्थ्य के अनुसार समाज सेवा करनी चाहिए। दानदाताओं से हमें सीख लेकर समाज के दीन दुखियों की सेवा के लिए आगे आते हैं तो समाज के जरूरतमंदों को समय पर उचित सहायता मिल सकेगी। मानवता की सेवा, सर्वोपरि सेवा है। मातृभूमि सेवा ट्रस्ट के अध्यक्ष श्री संजय कुमार सिंह ने कहा कि यदि हम अपने जीवन में किसी के दुख को कम करने का प्रयास करते हैं तो ऐसा करते हुए हम स्वयं के लिए खुशी का जरिया ढूंढ लेते हैं।आज शिविर में अपनी दोनों आंखे गंवा चुकी गरीब बच्ची बिन्दा चौहान की आर्थिक मदद की गई। शिविर में आज 452 मरीजों ने रजिस्ट्रेशन कराया। जिसमें 109 मरीजों को मोतियाबिंद के ऑपरेशन के लिए चिन्हित किया गया।शेष मरीजों का फालोअप करते हुए दवा तथा चश्मा का वितरण किया गया।आज शिविर में प्रमुख रूप से डा.शहजाद,डा.अमरेश,अजय सिंह,राजेश सिंह,अछैबर चौहान, चन्द्रशेखर शाहनी, राधेश्याम यादव, धर्मेंद्र शाहनी, गुड्डू भाई, रामनिवास सिंह प्रधान, बदरुद्वजा अंसारी, सुमंत कुमार मौर्य,पवन सिंह,बिन्दा चौहान, इत्यादि लोग उपस्थित रहे।