*ग्राम पंचायत अधिकारी पर भ्रष्टाचार के लगे गंभीर आरोप*
महोली ब्लॉक में हाल ही में अन्य पंचायत अधिकारी पर हो चुकी है कार्यवाही
रिपोर्ट पी एन वर्मा ब्यूरो सीतापुर सीतापुर एक तरफ जहां प्रदेश के मुख्यमंत्री लगातार घूसखोरी पर लगाम लगाते हुए कार्रवाई किए जा रहे हैं वही सीतापुर के कुछ भ्रष्ट सेक्रेटरी व प्रधान मुख्यमंत्री की मंशा के विपरीत जाकर शौचालय व आवास के लाभार्थियों से अवैध तरीके से धन उगाही करते नहीं चूकते ताजा मामला सीतापुर जिले की महोली तहसील के कुसैला गांव का बताया जा रहा है जहां पर लाभार्ती किशोरी पुत्र तुलसी ने जिलाधिकारी सीतापुर को शपथ पत्र देकर शिकायत की कि लाभार्थी का प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के अंतर्गत आवास प्राप्त हुआ था जिसमें आवास प्राप्त होने से पहले ही सेक्रेटरी व प्रधान ने मिलकर ₹20000 लाभार्थी से ले लिए थे उसके पश्चात ₹40000 की पहली किस्त आने के बाद प्रधान के भतीजे राहुल और पंचायत मित्र अंकित ने ₹15000 और मांग लाभार्थी से और कि लाभार्थी द्वारा ₹15000 न देने पर उक्त लोगों ने पहली किस्त का पूरा पैसा निकाल लिया और खाता होल्ड कर दिया गया लाभार्थी द्वारा जब इंडियन बैंक शाखा महोली मैं बैलेंस चेक किया गया तो उसे पता चलता है कि उसके खाते का पैसा निकल चुका है उसके पश्चात लाभार्थी द्वारा जिलाधिकारी सीतापुर को शपथ पत्र देकर भ्रष्ट अधिकारियों की शिकायत की जाती है देखना यह होगा कि इन अधिकारियों और भ्रष्ट प्रधान पर क्या कार्रवाई होती है