जनपद में चौरी- चौरा शताब्दी महोत्सव को भव्य एवं धूमधाम के साथ मनाया गया
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया-आज जनपद में चौरी चौरा शताब्दी महोत्सव को भव्य रुप से धूमधाम के साथ मनाया गया। जनपद में चिन्हित शहीद स्थलों व ग्रामों में शहीदों के प्रतिमाओं पर श्रद्वासुमन अर्पित किया गया। शहीदों एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानियो को याद किया गया। प्रभात फेरी निकाली गयी, राष्ट्रगान एवं राष्ट्रीय गीत बन्देमातरम का सामूहिक गान किया गया। शहीदों के बलिदान, संघर्ष एवं त्याग को जगह जगह याद किया गया। स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के उनके आश्रितो को शाल ओढाकर एवं माल्यार्पित कर सम्मानित किया गया। इस कार्यक्रम की शुरुआत राजकीय इंटर कालेज परिसर से स्कूली छात्र एव़ं छात्राओं, एनसीसी, स्काउट गाइडों आदि द्वारा प्रभात फेरी की रैली निकाली गयी। रैली को हरी झण्डी दिखाकर जिलाधिकारी अमित किशोर ने रवाना किया एवं पूरे रुट तक उसका नेतृत्व किया। यह रैली शहीद रामचन्द्र विद्यार्थी के रामलीला मैदान स्थित शहीद स्मारक पर समाप्त हुई। जहां जनपद के प्रभारी/उद्यान राज्य मंत्री श्रीराम चौहान, जिलाधिकारी अमित किशोर, पुलिस अधीक्षक डा0श्रीपति मिश्र, गन्ना विकास उपायुक्त नीरज शाही सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों व प्रबुद्वजनो द्वारा श्रद्वासुमन अर्पित किया गया। इस अवसर पर राष्ट्रगान व राष्ट्रीय गीत बन्देमातरम का सामूहिक गान हुआ। प्रभारी मंत्री द्वारा उपस्थित स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, उनके आश्रितों एवं शहीद रामचन्द्र विद्यार्थी एवं शहीद सोना सोनार के परिजनो को माल्यार्पित कर उन्हे सम्मानित किया गया। प्रभारी मंत्री ने कहा कि चौरी चौरा की आजादी की लडाई प्रथम प्रगटिकरण का एक स्वरुप है। आजादी की लडाई में अपना सब कुछ न्यौछावर करने वाले बीर शहीद एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का सम्मान करना हम सभी के लिये गौरव की बात है। इस कार्यक्रम उपरान्त शहीद रामचन्द्र विधार्थी केे शहीद स्थल गांधी आश्रम परिसर में आयोजित मुख्य कार्यक्रम क शुरुआत प्रभारी मंत्री सहित अन्य अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन के साथ किया गया। निर्धारित समयानुसार 11 बजे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के चौरी चौरा शताब्दी महोत्सव के वर्चुअल कार्यक्रम का सजीव प्रसारण हुआ, जिसे उपस्थित जनो द्वारा देखा गया। तदउपरान्त प्रभारी मंत्री द्वारा पूर्व सैनिको एवं द्वितीय विश्वयुद्व के पूर्व सैनिक एवं उनके आश्रितों को शाल ओढाकर माल्यार्पित कर सम्मानित किया गयां एवं द्वितीय विश्वयुद्व के पूर्व सैनिक एवं उनके आश्रितो सहित 18 लोगो दो-दो हजार रुपये का चेक भी उन्हे प्रभारी मंत्री जी द्वारा प्रदान किया गया। इस अवसर पर प्रभारी मंत्री ने चौरी चौरा की इस शहादत को याद करते हुए शहीद होने वाले लोगो के आजादी की लडाई व उनके संघर्षो से प्रेरणा लेने पर बल दिया। कहा कि इसे शताब्दी के रुप में मनाकर हम आजादी की इस प्रथम उत्कर्ष से लोगो को प्रेरित करने और शहीदों की त्याग को जन-जन तक पहुॅचाने का कार्य है ताकि आने वाली पीढियां इससे प्रेरित हों। सदर विधायक डा0सत्य प्रकाश मणि त्रिपाठी ने कहा कि शहीदों, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को याद करना हम सभी के लिये गौरव की बात है। शहीदों के ग्राम भी भूमि की कण-कण हमारे लिये वन्दनीय है। जिलाधिकारी अमित किशोर ने कहा कि 12 वर्ष की उम्र में आजादी की लडाई की जज्बा जगाने एवं अपने प्राणों की आहूत देने वाले अमर शहीद रामचन्द्र विद्यार्थी के शहादत स्थल ‘‘गांधी आश्रम परिसर में’’ मा0 मुख्यमंत्री जी के घोषणा अन्तर्गत शहीद रामचन्द्र विद्यार्थी के नाम से संग्रहालय बनाया जायेगा, जिसमें शहीदों के जीवन से जुडे प्रसंग संग्रहित रहेगें। *द्वितीय विश्वयुद्व के 18 पूर्व सैनिक एवं उनके आश्रित हुए सम्मानित* द्वितीय विश्वयुद्व के पूर्व सैनिक जिन्हे माल्यार्पित कर उन्हे शाल ओढाकर एवं दो-दो हजार का चेक प्रदान कर प्रभारी मंत्री जी द्वारा सम्मानितों में सिपाही पलकधारी यादव, सिपाही हरि, सिपाही श्रीनिवास दूबे, आश्रित प्रभावती देवी पत्नी सिपाही रामअधार, लाची देवी पत्नी सिपाही स्व0 विन्ध्याचल, ज्ञान्ती देवी पत्नी नायक नारायण पाण्डेय, कबूतरी देवी पत्नी सिपाही स्व0 कपिल देव, सुनारी देवी पत्नी स्वं0 चन्द्रबली सिंह, मराछी देवी, इन्द्रावती देवी पत्नी स्वं0 भरद्वाज पाण्डेय, गिरीजा देवी पत्नी स्व0चन्द्रा, मरछिया देवी पत्नी स्वं फुलचन्द्र, लाची देवी पत्नी स्व0फौजदार, धनेश्वरी देवी पत्नी स्व0 जंगी, फुलवां देवी पत्नी स्वं0 सुखदेव, बभियारी देवी पत्नी स्वं0 रामध्यान सिंह, रुक्मणी देवी पत्नी स्व0रामनरेश, फुलझारी देवी पत्नी स्व0 अमर सम्मिलित रहे। *पूर्व सैनिक एवं उनके आश्रित एवं यु़द्व विरांगनाओं को किया गया सम्मानित* विभिन्न युद्वो में प्रतिभाग करने वाले अमर शहीदों के 11 युद्व विरांगनाओं को प्रभारी मंत्री जी सम्मानित किया गया, जिसमें रामदसियां देवी ग्राम भरथुआं, सरस्वती देवी ग्राम पिपरा भानमती, इन्द्रावती देवी ग्राम सोनारी, खुशमावत देवी डेहरा डाबर, तेतरा देवी ग्राम हरीशचन्द्र कोडरा, मुन्नी खातून ग्राम चूडिया, फुलझाडी देवी ग्राम रायबारी, रीता देवी ग्राम सिसवां, सुनिता देवी ग्राम धवरिया, सीमा सिंह, धर्मावती देवी ग्राम विनायक सम्मानितों में सम्मिलित है। *वीर सैन्य अधिकारी भी हुए सम्मानित* इस अवसर पर विभिन्न पदों पर रहते हुए सैनिक सेवा करने वाले बीर सैनिको को भी सम्मानित किया गया, जिसमें ब्रिगेडियर गोविन्द जी मिश्र, कर्नल जगदीश सिंह, कर्नल अरुण प्रकाश पाण्डेय, ले0 कर्नल मथ्यू केए, मेजर राममोहन पाण्डेय, मेजर रामेश्वर यादव, कर्नल एपी पाण्डेय, इसीएचएस सम्मानितों में सम्मिलित है। *स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं उनके आश्रित का भी हुआ सम्मान* शहीद स्थल रामलीला मैदान में आयोजित कार्यक्रम में प्रभारी मंत्री जी द्वारा स्वतंत्रता संग्राम सेनानी आश्रित अम्बिका देवी, रामविलासी देवी, रजिया देवी, गुलाबी देवी, परमा देवी को सम्मानित किया गया। शहीद हरेकृष्ण मणि त्रिपाठी के परिजन भी सम्मानित हुए। इस अवसर पर शहीद रामचन्द्र विद्यार्थी के परिजन रामबडाई प्रजापति, बृजेश प्रजापति, शहीद सोना सोनार के परिजन वृन्दा प्रसाद, भगवती प्रसाद एवं शहीद हरेकृष्ण मणि की पत्नी कालिन्दी देवी को प्रभारी मंत्री जी द्वारा सम्मानित किया गया। जिला सैनिक कल्याण अधिकारी एवं ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट सुमित यादव द्वारा जनपद के सैनिकों का विभिन्न लडाईयों के योगदान पर प्रकाश डालते हुए सभी अतिथि एवं आगन्तुको के प्रति आभार ज्ञापित किया गया। प्रभारी मंत्री सहित सभी अतिथियों को पुष्पगुच्छ प्रदान कर उन्हे सम्मानित भी जिलाधिकारी एवं अन्य प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा किया गया। संचालन पंकज शुक्ल द्वारा किया गया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी शिव शरणप्पा जीएन, एडीएम प्रशासन कुंवर पंकज, एसडीएम सदर सौरभ सिंह, डीपीआरओ आनन्द प्रकाश, डीपीओ प्रभात कुमार, नगरपालिका अध्यक्ष अलका सिंह, पूर्व विधान परिषद सदस्य महेन्द्र यादव, सांसद प्रतिनिधि एवं पूर्व विधायक रविन्द्र प्रताप मल्ल, अजय शाही, नित्यानन्द पाण्डेय, विजय कुमार दूबे, सत्येन्द्र मणि त्रिपाठी, धनन्जय राव, बाबू लाल पाण्डेय, अम्बिकेश पाण्डेय, संजय पाण्डेय सहित स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के आश्रित प्रबुद्व जन, एवं अन्य जुडे अधिकारी गण आदि उपस्थित रहे।