जब हौसला बना लिया ऊंची उड़ान का-शिवेन्द्र कुमार मिश्र
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिया-समेकित क्षेत्रीय कौशल विकास, पुर्नवास एवं दिव्यांगजन सशक्तीकरण केन्द्र(सी0आर0सी0) एवं जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वाधान में स्थानीय एसएसबीएल इंटर कालेज के प्रांगण में दिव्यांगजन के आकलन ,मापन एवं प्रमाणिकरण तथा कृत्रिम अंग , सहायक उपकरण वितरण शिविर का अयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के अतिथि सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण न्यायाधीश शिवेन्द्र कुमार मिश्र एवं पुलिस अधीक्षक डा0श्रीपति मिश्र रहे। अतिथियों द्वारा दिव्यांगजनो को कृत्रिम उपकरण व मोटराईज्ड साइकिल प्रदान किया गया। दिव्यांगजनो के सहातार्थ किरण हेल्पलाइन के पोस्टर का विमोचन भी किया गया। आयोजित इस शिविर में सीआरसी द्वारा दिव्यांगजनों का परीक्षण एवं आकलन करने के साथ ही उन्हे दिव्यांगता प्रमाण-पत्र निर्गत किया गया । ऐसे दिव्यांगजन जिन्होने मोटराईज्ड ट्राइसाइकिल (बैटरी चालित) हेतु आनलाइन आवेदन किया है, उनका चिन्हांकन भी इस शिविर में किया गया।शिविर का शुभारम्भ सचिव विधिक सेवा एवं न्यायाधीश श्री मिश्र ने फीता काटने के साथ किया। तत्पश्चात मां सरस्वती के चित्र पर पुष्प अर्पित व दीप प्रज्वलन किया। दिव्यांग बालक गोपाल भारती ने सरस्वती बन्दना, स्वागत गीत प्रस्तुत किया। न्यायाधीश श्री मिश्र ने सम्बोधन में कहा कि यह शिविर दिव्यांगजनों को नई हौसला, नई उड़ान के साथ अंधकार को दूर कर उजाला देने का कार्य करेगा। उन्होने कहा कि दिव्यांगजनो के लिये अनेका कल्याणकारी योजनाये संचालित है और उसको पूरी सक्रियता से उन तक पहुॅचाये जाने का कार्य भी किया जा रहा है। सरकारी योजनाओं के साथ-साथ समाज को भी दिव्यांगजनो के सहयोग व कल्याण के लिये आगे आकर कार्य करना चाहिये। उन्होने लोगो को नशा से दूर रहने और इसके लिये समाज को जागरुक करने पर बल देते हुए कहा कि असहाय, गरीबों, अशक्तों, दिव्यांजगनो के मदद के लिये समाज को हमेशा आगे बढ कर कार्य करना चाहिये। उन्होने कहा कि विधिक सेवा साक्षरता दिव्यांजनो का उनके अधिकारो को दिलाये जाने के लिये सदैव तत्पर रहेगा। उन्होने बताया कि अब तक 150 से अधिक दम्पतियों के विवाद को सुलझाया गया है और उन परिवारों को स्थापित किये जाने का कार्य किया गया है। उन्होने नशा से दूर रहने की अपील सभी से की। पुलिस अधीक्षक श्री मिश्र ने कहा कि इस आयोजन एवं उपकरण पाकर दिव्यांगजनो के जीवन में एक नई गति आयेगी। सरकार द्वारा दिव्यांगजनो के कल्याण के लिये जो योजना संचालित की गयी है, उसका सही रुप से क्रियान्वयन दिव्यांगजन अधिकारी द्वारा जनपद में कराया जा रहा है। निश्चित रुप से उपकरण प्राप्त करने के बाद दिव्यांगजनो का मनोबल बढेगा और वे जीवन धारा से जुडेगें। दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी मीनू सिंह ने दिव्यांगजनो के कल्याण के लिये संचालित विभिन्न योजनाओं की विस्तृत रुप रेखा प्रस्तुत की और कहा कि शासन के जो भी दिशा निर्देश उस अनुरुप दिव्यांगजनो को हर सुविधाये उपलब्ध कराये जाने कार्य किया जायेगा। उन्होने कहा कि इस शिविर के आयोजन में सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव न्यायाधीश श्री मिश्र का दिशा निर्देश काफी अहम रहा है। उन्होने यह भी बताया कि अब तक 350 मोटराईज्ड साइकिल वितरित किया जा चुका है एवं 200 मोटराईज्ड साइकिल के लिये दिव्यांगजनो चिन्हांकन कराया जा रहा है। आज इस शिविर के माध्यम से 10 दिव्यांगजनो में टोकन रुप में उपकरण दिया गया, जिसमें दो मोटराईज्ड साइकिल एवं अन्य दिव्यांग सहायक उपकरण दिया गया। उन्होने सभी अतिथियों, आगन्तुको के प्रति इस आयोजन के लिये आभार जताया। सीआरसी गोरखपुर के रवि कुमार, मधुकर एवं जिव्यागजन अधिकारी मीनू सिंह के द्वारा अतिथियों का स्वागत पुष्प गुच्छ प्रदान कर किया गया। इस अवसर पर चिकित्सक पी कन्नौजिया, बेसिक शिक्षा के समन्वयक ज्ञानेन्द्र सिंह, रवि वर्मा सहित सीआरसी से जुडे अधिकारी, कर्मचारी, दिव्यांगजन आदि उपस्थित रहे।