युवक की हत्या, खेत में मिला शव
जिला प्रभारी राजीव कुमार पांडेय की रिपोर्ट
जमानिया (गाजीपुर ) :कोतवाली क्षेत्र मदनपुरा गांव के निवासी राकेश गुप्ता उर्फ डब्लू (32) की धारदार हथियार से सिर के पिछे वारकर हत्या कर दी गई ।वह सोमवार को घर से जल्दी आने की बात कहकर निकला था मंगलवार को राकेश का शव गांव के सीवान में अरहर के खेत में मिला।इससे स्वजनों में कोहराम मच गया ।फोरेंसिक टीम घटनास्थल से नमूने एकत्र किए ।पुलिस अधीक्षक डा ओमप्रकाश सिंह ने घटनास्थल पहुंचकर जानकारी ली ।वहीं पत्नी ने घटना की तहरीर दी । राकेश हैदराबाद में वेल्डर का कार्य करता था । एक माह पहले पत्नी व बच्चों के संग गांव आया था ।माता-पिता व भाई धनबाद में रहते है राकेश करीब पांच बजे मुर्गा लाया । सोनी से यह कहते हुए बाहर निकल गया कि इसे बनाओ मैं आ रहा हूं ।मगर काफी रात तक घर नही आया और मोबाइल भी स्विच ऑफ आ रहा था तब राकेश की खोज बिन शुरू हुई देरी तक कहीं पता नहीं चलने थक हारकर लोग घर लौट गये । मंगलवार को दोपहर गांव के पुरब तरफ सीवान में गए । कुछ लोगों की नजर औंधे मुंह पर पड़े शव पर पड़ी तो वह सन्न रह गए ।लोगों ने परिवार के साथ पुलिस को सूचना दी । तलाशी के दौरान पुलिस को राकेश की पैंट से एक मोबाइल मिला । राकेश की तीन वर्षीय बेटी राही है ।वह दो भाईयो में सबसे छोटा था ।हत्या की जानकारी ग्रामीणो ने रह रहे धनबाद में पिता व भाईयो को दी।सूचना पाकर नाते रिश्तेदार भी पहुंच गए । इस घटना को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जाते रहे । *राकेश के सिर के पीछे थे गहरे जख्म* सीवान में औंधे मुंह पड़े राकेश के सिर के गहरे जख्म के निशान थे ।मौके पर खुन और मांस का छोटा सा टुकड़ा गिरा हुआ था ।कयास लगाए जा रहे थे कि हत्यारों ने बड़ी बेरहमी से मौत के घाट उतारा होगा । गांव के प्राथमिक विद्यालय से लेकर घर जाने के रास्ते में जगह-जगह पड़े खून के छींटे सुखकर काले पड़े गए थे । ग्रामीणों के मुताबिक मृदु स्वभाव राकेश का किसी से कोई विवाद नही था । ऐसे में किसने इस वारदात को क्यों अंजाम दिया होगा । ये समझ नहीं आ रहा हैं ।