ट्रेन का ठहराव ना होने से जनता परेशान, सिर्फ रोडवेज बसों का सहारा बृजमनगंज
रवि प्रताप(विशाल) जिला प्रभारी, महराजगंज। शैलेन्द्र यादव की रिपोर्ट।
महाराजगंज का प्राचीन रेलवे स्टेशन बृजमनगंज जो तीन जिलो को जोड़ता हुआ नेपाल बॉर्डर से सटा हुआ है। रेलवे स्टेशन का नाम अंग्रेज अधिकारी बृजमैन साहब के नाम पर बृजमनगंज आज भी है ।यह रेल मार्ग गोरखपुर बढ़नी गोंडा से लखनऊ होते हुए सभी प्रांत को जोड़ती है लॉकडाउन से पूर्व सभी गाड़ियां चाहे वह पैसेंजर अथवा एक्सप्रेस ट्रेन का ठहराव होता रहा परंतु बीते कोरोना संकट के बाद लॉक डाउन के चलते ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया गया लेकिन अनलॉक होने के साथ ही धीरे-धीरे करके कई ट्रेनों का संचालन सभी रुट पर शुरू कर दिया गया लेकिन आनंदनगर से गोंडा पैसेंजर ट्रेन, व आनन्दनगर से बढ़नी का संचालन रुक गया । इण्टरसिटी का ठहराव पहले बृजमनगंज हुआ करता था तकरीबन बृजमनगंज से लखनऊ जाने वाले यात्रियों की संख्या 100 से ज्यादा हुआ करता था। लेकिन अब इण्टरसिटी ट्रेन का ठहराव बृजमनगंज न होकर उसका कर दिया गया जिसके चलते दैनिक यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसके साथ ही पैसेंजर ट्रेनों का संचालन न शुरू होने के चलते गोरखपुर , बृजमनगंज, शोहरतगढ़ बढ़नी तुलसीपुर बलरामपुर, गोंडा व लखनऊ, आदि जाने वाले यात्रियों की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है। क्षेत्र के लोगों ने ट्रेन ठहराव की मांग को लेकर हाथ उठाकर प्रदर्शन किया ।इन स्थानों पर जाने के लिए दैनिक यात्रियों को महज रोडवेज बसों के साथ प्राइवेट साधन व डग्गामार वाहनों का ही एकमात्र सहारा बचा है। जहां अधिक पैसे देकर मजबूरी में यात्रा करने को मजबूर हैं।क्षेत्र की जनता में आक्रोश दिखाई पडने पर समाजसेवी विजय नारायण गुप्ता ने कहा कि हमने कई बार क्षेत्र के सांसद एवं विधायक को पत्र के माध्यम से बृजमनगंज रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के ठहराव के लिए निवेदन किया परंतु अभी तक उस पर कोई पहल नहीं किया गया। नवसृजित नगर पंचायत में जनप्रतिनिधियों के कई छोटे-बड़े चेहरे दिखाई दे रहे हैं परंतु किसी ने भी बृजमनगंज रेलवे स्टेशन पर ट्रेन ठहराव की मांग को नहीं उठाया। क्षेत्र की जनता ठगा सा महसूस कर रही है। भारतीय कामगार कर्मचारी महासंघ के फरेंदा विधान सभा उपाध्यक्ष जगदम्बा जायसवाल ने कहा कि रेल का संचालन बंद होने से कई लाखों लोगों की रोजी रोटियां बंद हो गई गरीब तबके का परिवार रेलवे के भरोसे अपना जीवन यापन कर रहे थे आज वह सब दर-दर भटकने को मजबूर हैं ।लॉकडाउन खत्म होने पर सभी बसें एक नगर से दूसरे नगर भर भर चलाई जा रही हैं सभी माल सिनेमा हॉल पार्क खुल गए हैं फिर क्यों ट्रेनों का संचालन पूरी तरह से अभी भी नहीं किया जा रहा है जबकि मुंबई जैसे महानगर में लोकल ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया गया है तो यहाँ क्यू नहीं। समाजसेवी विनोद जयसवाल एवं व्यापार मंडल अध्यक्ष किशन जायसवाल ने कहा कि इंटरसिटी एक्सप्रेस का ठहराव पूर्व की भांति हो एवं लोकल ट्रेनों का संचालन भी शुरू किया जाए जिससे कि क्षेत्र की जनता को आवागमन मे सुविधा मिल सके नगर पंचायत बृजमनगंज की जनता अब सांसद व विधायक से पैसेंजर ट्रेन व इण्टरसिटी ठहराव के संचालन के लिए टकटकी लगाए बैठे है। समाजसेवी विजय नरायन, अजय, राज, महेश,अनूप कसौधन, मुनीर आलम उर्फ राजन, गौरव जयसवाल,उजाला जायसवाल, संदीप मोदनवाल, प्रदीप मणि, अनिल मणि,राजाराम,पवन मोदनवाल, आनंद जायसवाल, विमल जायसवाल,अरविंद कुमार,गणेश जायसवाल,पंकज श्रीवास्तव आदि कस्बे के प्रतिष्ठित ब्यापारियो ने बृजमनगंज ट्रेन ठहराव की मांग की।