महिला दिवस के पूर्व संध्या पर 28 पारिवारिक मुकदमों को सुलह-समझौते से किया गया समाप्त -शिवेंद्र कुमार मिश्र
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया- जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया के तत्वावधान में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के पूर्व संध्या पर जनपद न्यायालय के पारिवारिक न्यायालय में महिलाओं के लिए विशेष लोक अदालत का आयोजन किया गया। लोक अदालत का शुभारंभ जनपद न्यायाधीश रवि नाथ ने फीता काटकर तथा माॅ सरस्वती प्रतिमा पर माल्यार्पण व पुष्प अर्पित कर किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया के सचिव न्यायाधीश शिवेन्द्र कुमार मिश्र ने कहां कि महिलाओं के लिए विशेष लोक अदालत में कुल 28 पारिवारिक मुकदमों का निस्तारण परिवार न्यायालय द्वारा किया गया । प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय मोहनलाल विश्वकर्मा के द्वारा 10 मुकदमों का निस्तारण किया जिनमें रेनू बनाम घनश्याम, गुरूप्रीत बनाम सिमरन, विजय बनाम सुमन, वसंत बनाम पुष्पा, ममती बनाम बबलू, सोनू बनाम शोभा, प्रियंका बनाम अखिलेश, घुरपति बनाम योगेन्द्र, मुन्नी बनाम अनुप तथा शोभा बनाम गल्लू। अपर प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय प्रथम अनिरूद्ध कुमार तिवारी द्वारा कुल 09 मुकदमों का निस्तारण किया गया जिनमें बिंदू बनाम पंकज, ममता बनाम बबलू, अंजनी बनाम विनय, सविता बनाम योगेन्द्र, अल्पना बनाम द्वारिका, मधुमिता बनाम प्रदीप, सविहा बनाम कमरूज़मा, शकिना बनाम सहाबुद्दीन तथा परवीन बनाम हलीम। अपर प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय द्वितीय मनोज कुमार मिश्र द्वारा 05 मुकदमों का निस्तारण किया गया जिनमें सावित्री बनाम अजय, प्रीति बनाम हरिओम, गुलबख्शा बनाम नौशाद, बबली बनाम गोविंद तथा ओमप्रकाश बनाम अनिता। अपर प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय तृतीय विष्णु प्रताप सिंह के द्वारा 04 मुकदमों का निस्तारण किया गया जिनमें अमित बनाम सपना, गीतांजली बनाम पंकज, अतुल बनाम चन्द्रकला तथा प्रहलाद बनाम बबलू रहें तथा सेटलमेंट के रूप में मु0-10,60,000/-रू0 धनराशि पीड़ित पक्षकारों को दिलाया गया। इस मौके पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया के सचिव समस्त सम्मानित परिवार न्यायालयों के न्यायाधीशगण, विद्वान अधिवक्ताओं तथा अन्य उपस्थित व्यक्तियों का धन्यवाद ज्ञापित किया।