वसूली की मानक मद शत प्रतिशत संबंधित अधिकारी सुनिश्चित करें-डीएम
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने वसूली कार्यो एवं प्रवर्तन कार्यो को पूरी तत्परता से किये जाने का निर्देश संबंधित विभागो को दिया। उन्होने कहा कि वसूली की मानक मद शत प्रतिशत वसूली संबंधित अधिकारी सुनिश्चित करें। इसमें किसी भी स्तर पर कोई भी कोताही नही होनी चाहिये। जिलाधिकारी श्री निरंजन कलक्ट्रेट सभागार में कर-करेत्तर, राजस्व, न्यायिक कार्यो की मासिक समीक्षा की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होने विद्युत विभाग के वसूली कार्यो पर असंतोष जताते हुए कहा कि विद्युत बकाये के वसूली में तेजी लाये। इसमें टालमटोल की रवैया कदापि बर्दास्त नही की जायेगी। उन्होने लम्बित आरसी के प्रकरणों को मिलान कराये जाने के साथ संयुक्त टीम बनाकर वाणिज्य कर विद्युत विभाग के आरसी का प्राथमिकता के साथ सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश दिया। उन्होने कार्य परियोजनाओं के लिये जमीनो की उपलब्धता कराये जाने के लिये उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि वे नायब तहसीलदार, व रजिस्टार कानूगो को इस कार्य के लिये लगाये और प्रतिदिन उसका अनुश्रवण करते हुए 10 दिन में सभी कार्य परियोजनाओं के लिये जमीनो का चिन्हाकन सुनिश्चित करायें। उन्होने राशन के रिक्त दुकानो का व्यवस्थापन कराये जाने के साथ अनियमितता बरतने वाले दुकानो को निलंबित करने व उसके उपरान्त निरस्त करने का निर्देश दिया। कहा कि ऐसा नही किया जाता है तो उप जिलाधिकारी व डीएसओ को कारण बताओं नोटिस दिया जायेगा। जिलाधिकारी ने परिवहन, विद्युत, खनन, वाणिज्य कर आदि विभागो को प्रवर्तन कार्यो में सक्रियता लाये जाने के निर्देश दिये। साथ ही उन्होने राजस्व वादो का निस्तारण हर हाल में दायरा से अधिक किये जाने, पट्टा आवंटन सहित अन्य राजस्व कार्यो को प्राथमिकता के साथ सुनिश्चित कराते हुए हर हाल में सुधार लाये जाने का निर्देश दिया। बैठक सीडीओ शिव शरणप्पा जीएन, ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट सुमित यादव, एडीएम एफआर उमेश कुमार मंगला, सीआरओ अमृत लाल बिन्द, एसडीएम सदर सौरभ सिंह, संजीव कुमार यादव, ललन राम, ध्रुव कुमार शुक्ला, तहसीलदार गण, अधिशासी अधिकारी गण डीएसओ विनय कुमार सिंह, एआईजी स्टाम्प राधाकृष्ण मिश्र सहित अन्य संबंधित अधिकारी गण आदि उपस्थित रहे।