भारत -नेपाल सीमा पर भारत से लौट रहे यात्रियों की कोरोना जांच शुरू
आलोक सिंह ब्यूरो चीफ बहराइच
होली के त्यौहार पर भारत के महाराष्ट्र व गुजरात व अन्य राज्यों से लौट रहे नेपाली कामगारों की नेपालगंज की जमुनहा सीमा में प्रवेश करते ही कोरोना की जांच कराना पड़ेगा।जिसको लेकर भारत नेपाल सीमा के नेपाली जमुनहा नाके पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा हेल्थ डेस्क की स्थापना की गई है।नेपालगंज उपमहानगर पालिका स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख रामबहादुर चंद ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि लगभग आधा दर्जन स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती जमुनहा नाके पर की गई है। बताया जाता हैं कि भारत के महाराष्ट्र के मुंबई सहित कई अन्य महानगरों में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए सख्ती बरती जा रही है।कोरोना के दूसरे दौर के प्रकोप के कारण बड़ी संख्या में नेपाली कामगारों ने वापस अपने देश लौटना शुरू कर दिया है।जिसे लेकर नेपाल के प्रशानिक हलकों में इनकी वापस लौटने के बाद कि स्थिति से निपटने की तैयारियां ज़ोर शोर से चल रही हैं।कोरोना आपदा प्रबंधन समिति बांके के पदाधिकारियों की एक बैठक जिलाधिकारी बांके रामबहादुर कुरूमबाग की अध्यक्षता में आयोजित की गई।जिसमें यह निर्णय लिया गया कि भारत से लौट रहे नेपाली कामगारों की एंटीजेन व आरटीपीसीआर जांच कर पॉज़िटिव निकलने वाले मरीज़ों को आइसोलेशन सेन्टरों में भेजा जाए।इसके लिए भेरी अस्पताल में एक अलग से कोविड वार्ड बनाया गया है।जहां कोरोना सनक्रिमित मरीज़ों को रखा जाएगा। आज सुबह जमुनहा बार्डर पर आने जाने वालो को रोका गया परन्तु बाद में स्थिति सामान्य हो गयी।