रामलीला प्रांगण मे आदर्श रामलीला के कलाकारों के द्वारा किया गया धनुषयज्ञ एवं लक्ष्मण परशुराम संवाद की लीला का मंचन
*रिपोर्ट -प्रशांत श्रीवास्तव मेहदावल संत कबीर नगर* मेहदावल/संत कबीर नगर - संत कबीर नगर जनपद के मेहदावल तहसील के अन्तर्गत ग्राम सभा करमैनी मे चल रहे नौ दिवसीय श्री श्री रुद्र महा यज्ञ मे हो रहे आदर्श रामलीला कमेटी के कलाकारो द्वारा धनुषयज्ञ लक्ष्मण परशुराम संवाद की लीला को प्रस्तुत किया गया । जिसमे लक्ष्मण एवं परशुराम संवाद बहुत ही रोचक एवं तीखी लीला की प्रस्तुति दी गई। धनुषयज्ञ लीला के दौरान बडे बडे योद्धा ने अपने अपने बल का प्रयोग किया परंतु धनुष को हिला न सके और भगवान श्रीराम ने धनुष को हल्के हाथ से ही उठाकर प्रत्यंचा चढाकर धनुष को भंग कर दिया । जिसकी आवाज सुनकर भगवान परशुराम पहुंचे। और जनक जी से पूछा कि यह शिव धनुष किस ने तोड़ा है। बता नहीं तो जहां तक तेरा राजपाट है नष्ट कर दूंगा। इस दौरान लक्ष्मण और उनके बीच तीखा संवाद हुआ। बाद में भगवान श्रीराम ने कहा कि यह कार्य करने वाला आपका ही कोई दास होगा। इससे परशुराम जी को कुछ आभास हुआ वह समझ गए कि राम भगवान विष्णु के अवतार है। इसके बाद उनकी जयजयकार करके वापस चले गए। कार्यक्रम मे उपस्थित सभी भक्तो ने भरपूर आंनद लिया। कार्यक्रम मे मुख्य रूप से पूर्व जिला पंचायत सदस्य सुभाष पाण्डेय ,लालजी निषाद, कुशल दूबे नूतन मिश्रा सूरज पाण्डेय नीरज पाण्डेय ,एवं कमेटी सहित अन्य गांव अधिक संख्या में लोग उपस्थित रहे।