निर्वाचन की प्रक्रिया अत्यन्त ही महत्वपूर्ण -डीएम
देवरिया- त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को सम्पन्न कराने की महत्ति जिम्मेदारी नामित निर्वाचन अधिकारी, एआरओ एवं अन्य संबंधित निर्वाचन कार्य से जुडे अधिकारियों व कर्मचारियों के ऊपर है, इसलिये वे अपने दायित्वों को पूरी निष्ठा, पारदर्शिता, निर्भीकता एवं बिना किसी के प्रलोभन व दबाव में आये निर्वहन करेगें, साथ ही निर्वाचन को सुचितापूर्ण तरीके से सम्पन्न कराने में अपना योगदान देगें। यह भी विशेष से ध्यान रखेगें कि किसी भी प्रकार की कोई त्रुटि की गुन्जाईश न हो, अन्यथा निर्वाचन में किसी भी गलती का कोई स्थान नही होता है। इस पर कड़ी कार्यवाही तय होगी। उक्त निर्देश जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन टाउनहाल आडिटोरियम में आयोजित त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के आरओ, एआरओ के प्रशिक्षण को सम्बोधित करते हुए दिए। उन्होने कहा कि प्रशिक्षण में जो जानकारी दी जा रही है, उसको भी बुकलेट से पुख्ता कर लेगें व उसका भलिभांति अध्ययन कर लेगें। यदि किसी प्रकार का कोई संदेह उत्पन्न हो तो उसकी जानकारी अवश्य ही कर लेगें। उन्होने कहा कि यह निर्वाचन की प्रक्रिया अत्यन्त ही महत्वपूर्ण है। आप सभी पूर्व में भी सफलतापूर्वक चुनाव करा चुके है, विश्वास है कि उसी अनुभव से जनपद में निर्वाचन को सकुशल सम्पन्न कराने में अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करेगें। लोक सेवक के रुप में जो नैतिक दायित्व है, उसका भी निर्वहन बिना किसी दबाव, प्रलोभन, पूर्वाग्रह व भेदभाव के सम्पन्न करायेगें और निर्वाचन की सुचिता को बनाये रखेगें। मुख्य विकास अधिकारी शिव शरणप्पा जी एन ने निर्वाचन की प्रक्रियाओं, नामांकन, नामांकन पत्रो के प्रारुप प्राप्त करने, प्रतीक चिन्ह आवंटन, नामांकन पत्रों की जांच, उम्मीदवारी वापस लेने सहित अन्य आवश्यक जानकारियां दी तथा सभी से प्रशिक्षण में बतायी गयी जानकारियों से भलिभांति अवगत होने की अपेक्षा की। प्रशिक्षण निशेष गुप्ता ने निर्वाचन बारीकियों की जानकारी दी। इस प्रशिक्षण में एडीएम प्रशासन कुवर पंकज, एसडीएम सदर सौरभ सिंह, जिला विकास अधिकारी श्रवण कुमार राय, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी सुभाष सिंह सहित नामित आरओ, एआरओ गण आदि उपस्थित रहे।