महिलाओं की सुरक्षा के साथ-साथ बच्चों को बनाये संस्कारवान- प्रभारी मंत्री
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया- अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर मिशन शक्ति कार्यक्रम के तहत टाउन हाल आडिटोरियम सहित जनपद के विभिन्न जगहों, विद्यालयों आदि में महिला जागरुकता एवं सशक्तिकरण से जुडे विविध कार्यक्रम आयोजित किये गये। मुख्य रुप से टाउन हाल आडिटोरियम में आयोजित जनपद स्तरीय कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जनपद प्रभारी मंत्री एवं उद्यान राज्यमंत्री श्रीराम चौहान, सदर विधायक सत्यप्रकाश मणि त्रिपाठी, बास गांव सांसद प्रतिनिधि संजय सिंह, रामपुर कारखाना विधायक प्रतिनिधि डा0 संजीव शुक्ला, जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन, पुलिस अधीक्षक डा0 श्रीपति मिश्र, मुख्य विकास अधिकारी शिव शरणप्पा जी एन एवं ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट सुमित यादव द्वारा दीप प्रज्वलन के साथ किया गया। इस अवसर पर आयोजित उद्यान एवं कृषि प्रदर्शनी का भी शुभारम्भ मुख्य अतिथि द्वारा फीता काटने के साथ किया गया और लगाये गये स्टालो का अवलोकन किया गया। लखनऊ में मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के आयोजित कार्यक्रम का सीधा प्रसारण हुआ, जिसे उपस्थित जनो द्वारा देखा गया। इस कार्यक्रम के दौरान महिला सशक्तिकरण की दिशा में विभिन्न विभागो के उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिला कर्मियों, स्वयं सहायता समूहो को प्रशस्ति पत्र देकर के मुख्य अतिथि प्रभारी मंत्री द्वारा सम्मानित किया गया। स्वयं सहायता समूह की महिला अनामिका सिंह को 01 करोड 5 लाख का स्वीकृति डेमो चेक एवं शीला देवी को सामुदायिक शौचालय की चाबी दी गयी। रम्भा देवी व राधा कुशवाहा को थर्मल प्रिन्टिंग भी उन्हे प्रदान किया गया। प्रभारी मंत्री श्रीराम चौहान ने कहा कि आज का दिन महिलाओं को सम्मान, स्वालम्बी एवं सुरक्षा प्रदान करने का संकल्प लेने का दिन है। हर क्षेत्र में महिलाये शक्तिशाली व सम्पन्न बने, कोई ऐसा क्षेत्र अछूता न रहे जहां महिलाएं न पहुॅच सके। इसके लिये सभी को कार्य करने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि महिला शिक्षित व गुणवान होती है तो वे अपने प्रकाश को दो-दो समूहों में प्रदान करने का कार्य करती है। उन्होने कहा है कि महिलाओं के सशक्तिकरण के लिये चलाये गये मिशन शक्ति कार्यक्रम से व्यापक परिवर्तन आया है। जीवन स्तर भी उंचा उठा है। उन्होने कहा कि महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में जहां प्रयास करें, वहीं परिवार व समाज को संस्कार बनाने का कार्य करे तभी हमारा परिवार, समाज व राष्ट्र समृद्ध होेगा। उन्होने कहा कि महिलाये जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में कार्य कर कीर्तिमान स्थापित की है और लोक कल्याणकारी कार्यो को लोगो तक पहुॅचाने में उनका अथक प्रयास है। उन्होने अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस की सभी उपस्थित महिलाओं को शुभकामनाये व बधाई दी। साथ ही सम्मानित होने वाले महिलाओं को शुभकामनाओं के साथ अन्य महिलाओ एवं बालिकाओं को इससे प्रेरणा लेते हुए समाज व परिवार के उन्नति के लिये कार्य किये जाने को कहा। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने मिशन शक्ति के तहत कार्य करने वाले सभी विभागो के कार्यो एवं प्रयासो की सराहना करते हुए कहा कि विभिन्न विभागो एवं निजी क्षेत्रो के लोगो😎 एवं महिलाओं द्वारा मनोयोग से कार्य किया गया है, जिससे इस कार्यक्रम में काफी सफलता मिली है। उन्होने कहा कि मिशन शक्ति की परिकल्पना, भारत वर्ष की समृद्ध परम्परा रही है। आदि शक्ति को सर्वोपरि माना गया है। प्रकृति भी महिला को जीवन का मूल माना है। संविधान में भी महिलाओं को सम्मान देने एवं अवसर की समानता को प्रतिधानित करता है। एक पढी लिखी महिला पूरे समाज को दिशा देने का कार्य करती है। हमें महिलाओं के सुरक्षा सम्मान आत्मनिर्भता के लिये बढ चढ कर अपनी भागीदारी निभानी चाहिये। पुलिस अधीक्षक डा0श्रीपति मिश्र ने कहा कि मिशन शक्ति से बहुत बडा बदलाव महिलाओं के सुरक्षा, सम्मान स्वालम्बन की दिशा में आया है। जनपद के दुर के क्षेत्रों के महिलाओं के सुविधा के लिये महिला चौकी खोले जाने के क्रम में थाना सलेमपुर के प्रांगण में महिला रिपोर्टिंग चैकी स्थापित की गयी है, ताकि अपनी समस्याओं को लेकर मुख्यालय आने की जरुरत न पडे। उन्होने कहा कि एन्टी रोमियों के सकारात्मक व सार्थक प्रभाव दिखा। घटनाओं में कमी आई। महिलाओं के सम्मान के प्रति संकल्पवान हो। सदर विधायक डा0 सत्य प्रकाश मणि त्रिपाठी ने कहा कि मिशन शक्ति के प्रथम चरण में बहुत बडी सफलता मिली है। यह प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री की महत्वाकंाक्षी योजना है। महिलाये समाज को प्रेरित करती है। उन्हे सम्मान व सुरक्षा मिले, यह हम सभी का नैतिक दायित्व व कर्तव्य है। उन्होने बेटी बचाओ-बेटी पढाओ को सभी को अपनाये जाने भ्रूण हत्या को रोके जाने पर बल दिया, जिससे महिलाओं का अनुपात न घटे और सामाजिक असमानता न उत्पन्न हो इस अवसर पर स्वयं सहायता समूह, पुलिस विभाग, बाल विकास, ग्राम्य विकास, परिवहन विभाग, राजस्व, राष्ट्रीय आजीविका मिशन, पीओ डूडा, पंचायतीराज, सफाई कर्मी गण, स्वास्थ, बेसिक, माघ्यमिक, वन स्टाप सेन्टर सहित जुडे लगभग दर्जनो विभागो की उत्कृष्ठ कार्य करने वाली महिला कार्यकर्तियों कर्मियों आदि सम्मानित होने में सम्मिलित रही। कार्यक्रम में कस्तूरबा गांधी विद्यालय की छात्राओं द्वारा स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया। संचालन बाल विकास परियोजना अधिकारी ऋचा पाण्डेय व जिला प्रोवेशन अधिकारी प्रभात कुमार द्वारा किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि जनपद प्रभारी मंत्री का स्वागत पुष्प गुच्छ एवं स्मृति चिन्ह प्रदान कर जिलाधिकारी, सीडीओ, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट आदि के द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम में सीएमओ डा आलोक पाण्डेय, सीएमएस महिला अल्पना रानी, क्षेत्राधिकारी श्रीयश त्रिपाठी, डीपीआरओ आनंद प्रकाश, जिला कार्यक्रम अधिकारी कृष्णकान्त राय, बीएसए सन्तोष राय, डीआईओएस देवेन्द्र कुमार, डीएचओ सीता राम यादव, उप निदेशक कृषि डा ए .के मिश्र, संजय पाण्डेय, संजय तिवारी, भरत शाही, अजय शाही सहित विभिन्न विभागो के महिला कार्यकर्ती, प्रबुद्धजन व संबंधित विभागो के अधिकारी व कर्मचारी गएा आदि उपस्थित रहे।