वक़्फ़ बोर्ड चुनाव में विधायक कोटे से नामांकन करने वाले दो प्रत्याशियों ने लिया नाम वापस ।
आलोक सिंह ब्यूरो चीफ बहराइच बहराइच
उत्तर प्रदेश सुन्नी सेन्ट्रल वक़्फ़ बोर्ड की 11 सदस्यीय बोर्ड सदस्यों के हो रहे निर्वाचन के लिये सांसद, विधायक , बार कौन्सिल और मुतवल्ली कोटे से 08 पदों पर बोर्ड सदस्य निर्वाचित करने हेतु 04 मार्च को हुए नामांकन के दौरान कुल 10 प्रत्याशियों द्वारा कराये गये नामांकन के बाद विधायक / सदस्य विधान परिषद कोटे पर हुए नामांकन में आज नाम वापसी के दौरान 04 प्रत्याशियों में दो प्रत्याशियों के नाम वापस ले लेने से बोर्ड सदस्य हेतु सांसद, विधायक, बार कौन्सिल और मुतवल्ली कोटे से किये गये नामांकन में सभी आठों प्रत्याशियों का निर्विरोध निर्वाचित होना तय माना जा रहा है कल 06 मार्च को निर्वाचन अधिकारी द्वारा प्रत्याशियों की सूची प्रकाशित की जायगी। 04 मार्च को बोर्ड सदस्य हेतु निर्वाचन अधिकारी शिवाकांत द्विवेदी स्पेशल सेक्रेटरी (अल्पसंख्यक कल्याण व वक़्फ़) के समक्ष सांसद, विधायक, बार कौन्सिल और मुतवल्ली कोटे से दो-दो सदस्य हेतु सांसद कोटे से डा0 एस टी हसन और कुंवर दानिश अली सांसद। विधायक/ सदस्य विधान परिषद कोटे से दो सदस्य हेतु अबरार अहमद, नफीस अहमद , इकबाल महमूद तीनो विधायक और परवेज़ अली सदस्य विधान परिषद ने नामांकन पत्र भरा था बार कौन्सिल कोटे से दो सदस्य हेतु हाई कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता अब्दुल रज़्ज़ाक खां व इमरान माबूद खां ने नामांकन हेतु दावेदारी की थी जब कि मुतवल्ली कोटे से दो सदस्य हेतु पूर्व चेयरमैन वक़्फ़ बोर्ड जुफर अहमद फारूकी और अदनान फर्रुख शाह ने नामांकन पत्र दाखिल किया था| आज शुक्रवार को नाम वापसी के दौरान विधायक इक़बाल महमूद और एम एल सी परवेज़ अली के अपना नाम वापस ले लेने से अब सभी आठों प्रत्याशियों का निर्विरोध निर्वाचित होना तय माना जा रहा है। 11 सदस्यीय बोर्ड गठन हेतु 03 सदस्यों को शासन द्वारा नामित किया जाता है जिसमे एक मुस्लिम स्कालर, एक सामाजिक कार्यकर्ता और एक संयुक्त सचिव स्तर के सुन्नी मुस्लिम अधिकारी को नामित होना है । शासन से इनके नामित होते ही बोर्ड गठन की प्रक्रिया शुरू हो जायगी।