रोजगार मेले के नाम पर की गई धन उगाही, काफी लोग हुए मायूस
शिवम सिंह
जनपद बहराइच के विकासखंड जरवल कस्बा में सेवायोजन कार्यालय बहराइच द्वारा आयोजित रोजगार मेले में दूरदराज से आए हुए गरीब असहाय व्यक्तियों से रोजगार रजिस्ट्रेशन के नाम पर ₹ 100 की वसूली की जा रही है| ₹100 के संबंध में पूछने पर, वसूली कर रहे राहुल शुक्ला से बात किया गया तो वह बताने में असमर्थता जताई , और कहा कि इसके संबंध जिले से पवन पाठक के निर्देशानुसार हमने जरवल ब्लॉक में इस मेले का आयोजन किया है| जिसके बारे में संपूर्ण जानकारी उन्ही से प्राप्त की जा सकती है| रोजगार के नाम पर युवा क्या वयस्क भी कई किलोमीटर दूरी से ब्लॉक पहुंचे और वहां की स्थितियों का जायजा लिया|जानकारी प्राप्त करने के उपरांत उन्होंने अपने कागज दस्तावेज तैयार कर जब वहां पर फॉर्म जमा कर रहे हैं कर्मचारी से मिले तो शुल्क जमा न करने की स्थिति में उनको वापस कर दिया गया और बता दिया गया लोकवाणी से आप इस फॉर्म को ऑनलाइन करा सकते हैं | काफी संख्या में लोगों को इस तरह से मायूस होकर वापस लौटना पड़ा |आज के समय में रोजगार की ऐसी स्थिति हो गई है, कि कोई भी कार्यक्रम मेला या रोजगार के संबंध में मीटिंग का आयोजन किया जाए तो एक पद पर हजारों की संख्या में लोग एकत्रित हो जाते हैं| विभिन्न प्रकार के लुभाने वाले उपाय अपनाते हैं उस रोजगार को हासिल करने के लिए, किंतु जब ब्लॉक के अंतर्गत कोई भी मीटिंग या कार्यक्रम रखकर ,रोजगार संबंध में मेले आयोजन किया जाता है उसकी नाजायत शुल्क वसूली जाती है| तो वहां की शासन व्यवस्था पर एक बहुत बड़ा प्रश्न चिन्ह खड़ा करता है कि ऐसी शासन व्यवस्था के अंतर्गत भी इस प्रकार के धन उगाही करने वाले धन के लालची लोग सक्रिय हैं,और उसके सामने स्थानीय प्रशासन की कानून व्यवस्था बौनी पड़ रही है| *सेवायोजन कार्यालय बहराइच द्वारा आयोजित रोजगार मेले में जो फार्म प्रयोग किया जा रहा है उस पर शुल्क ₹60 अंकित है| हमारे जानकारी तक ₹60 शुल्क ही ली जा रही थी| अगर ₹60 से अधिक शुल्क वसूली जा रही है, तो वहां पर उपस्थित कर्मचारी गलत कर रहे हैं-- बीडीओ जरवल आसाराम वर्मा*