मातम में बदली होली की खुशियां, नदी और तालाब में डूबने से पांच लोगों की मौत
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिया में सोमवार को अलग-अलग स्थानों पर नदी व पोखरी में डूब कर पांच लोगों की मौत हो गई। नदी में डूब रहे चार लोगों को एक गोताखोर ने बचाया। बरहज पुलिस ने गोताखोर को पुरस्कृत किया। सलेमपुर कोतवाली क्षेत्र के सलहाबाद वार्ड के रहने वाले अमित पांडे (15) पुत्र बालकृष्ण पांडे सोमवार को स्नान करने के लिए छोटी गंडक नदी के नदावर घाट पर गए थे। नदी में स्नान करते समय गहरे पानी में डूबने से उसकी मौत हो गई। बरहज में थाना घाट के सामने सरयू नदी में कुछ लोग स्नान कर रहे थे । पांच लोग गहरे पानी में डूबने लगे। युवको को डूबता देख एक महिला शोर मचाने लगी। महिला के शोर मचाने पर पास में मछली मार रहे मछुआरे नदी में कूद गए। मछुआरों ने शिवम (23) पुत्र बद्रीनाथ, बृजेश बोर्ड (20) पुत्र नेबू लाल निवासी हरनाडीह थाना बरहज, पन्नालाल (23) पुत्र दीनानाथ निवासी फुलवरिया पांडे थाना बरहज, निकेत मिश्र( 22) पुत्र राम बड़ाई निवासी करमटार थाना भलुअनी को बचाया।वही अनुराग गोंड (22) पुत्र रतन लाल निवासी हरनाडीह थाना बरहज की नदी में डूबने से मौत हो गई। 3 घंटे कठिन परिश्रम के बाद मछुआरों ने युवक का शव नदी से निकाला। बरियारपुर थाना क्षेत्र के बरियारपुर के रहने वाले अनिल प्रसाद (30 ) पुत्र स्वर्गीय शिवनाथ प्रसाद सोमवार की सुबह किसी कार्य से निकले हुए थे। वह धटैला गाजी स्थित एक पोखरी में स्नान करते समय डूब गए। आस पास के लोग उन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल ले गए। जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। भटनी थाना क्षेत्र के शिव बनकटा में छोटी गंडक नदी में स्नान करते समय दो युवकों की डूबने से मौत हो गई । मृतकों का नाम कृष्णा (20) पुत्र शिव कुमार निवासी अमवा पांडे थाना खुखुंदू और दूसरा भटनी थाना क्षेत्र के शिवबनकटा गांव के रहने वाले कुश यादव (23)पुत्र सुबास यादव है। पुलिस ने सभी शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।