दो प्रकरणों/वादों में सतत पैरवी कर करायी गयी सजा
रिपोर्ट पी एन वर्मा ब्यूरो चीफ सीतापुर
पुलिस अधीक्षक सीतापुर आर.पी. सिंह द्वारा न्यायालय में प्रचलित वादों में समस्त थाना प्रभारियों को सतत पैरवी हेतु निर्देशित किया गया है। जिसके क्रम में सतत पैरवी के फलस्वरूप दिनांक 16.03.2021 को 02 प्रकरणों/वादों में माननीय न्यायलय द्वारा विचारण पूर्ण कर सजा सुनायी गयी है। विवरण निम्नवत् हैः- 1. दुष्कर्म करने वाले अभियुक्त को 10 वर्ष कारावास की सजा- थाना रेउसा से सम्बन्धित मु0अ0सं0 187/08 धारा 376/363/366 भादवि बनाम रामकुमार पुत्र चन्द्रभाल निवासी गनेशपुर थाना ईसानगर जनपद लखीमपुर खीरी में रेउसा पुलिस द्वारा न्यायालय से निर्गत सम्मन को तामील कराकर गवाहों को समय से न्यायालय के समक्ष पेश किया गया। दिनांक 16.03.2021 को विचारण पूर्ण कर मा0 न्यायालय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश, कोर्ट सं0-17 सीतापुर द्वारा अभियुक्त रामकुमार उपरोक्त को अन्तर्गत धारा 376/363/366 भादवि के तहत 10 वर्ष सश्रम कारावास एवम् 10,000/-रुपये अर्थदंड की सजा सुनायी गयी। 2. नाबालिग से छेड़खानी करने वाले अभियुक्त को 04 वर्ष कारावास की सजा- थाना रेउसा से सम्बन्धित मु0अ0सं 159/16 धारा 354 भादवि व 7/8 पाक्सो एक्ट बनाम साबिर पुत्र गफूर अली निवासी ग्राम ककरहिया मजरा बंभिया थाना रेउसा जनपद सीतापुर में रेउसा पुलिस द्वारा न्यायालय से निर्गत सम्मन को तामील कराकर गवाहों को समय से न्यायालय के समक्ष पेश किया गया। दिनांक 16.03.2021 को विचारण पूर्ण कर न्यायालय अपर सत्र न्यायाधीश नवसृजित न्यायालय पाक्सो एक्ट एवं बालात्संग मामले-15 सीतापुर द्वारा अभियुक्त साबिर उपरोक्त को अन्तर्गत धारा 8 पाक्सो एक्ट के तहत 04 वर्ष कारावास व 1,000/- रुपये आर्थिक दंड सजा सुनायी गयी।