फिर हुआ बाघ का हमला दिलासा दे रही है वन विभाग की टीम
शिवम सिंह पत्रकार तहसील प्रभारी नानपारा
अभी कुछ दिन पहले ग्राम बेला मकन मे 3 लोगों को बाघ ने घायल किया था गांव वालों के कहने पर वन विभाग की टीम आकर गांव के लोगों को दिलासा देकर चले गए की बाघ एक जगह नहीं रुकता है उसके बाद गांव वालों को फिर से बाघ नजर आया यह मामला मांझा दरिया के गांव का है सल्लू पुत्र तीरथ राम अपने खेत में काम कर रहे थे तभी वहां बच्चों ने कहा भागो बाघ आ गया है तब सल्लू ने सोचा की बच्चे हम मजाक कर रहे हैं तभी उन्होंने अपने गेहूं के खेत में गए तभी बाघ ने उन पर हमला कर दिया किसी तरह चिल्लाने पर गांव वाले दौड़े गांव वालों ने लाठी भाला आदि सामान लेकर वहां पर पहुंच कर सल्लू की जान बचाई सल्लू को बेहड़ा ले जाकर मरहम पट्टी करवाएं वन विभाग की टीम से पूछने पर रामानंद मिश्रा ने बताया कि जब तक बाघ दिखता नहीं है हम सब लोग कुछ नहीं कर सकते डीएफओ मनीष सिंह ने बताया की जब तक ऊपर से आदेश नहीं होता है हम सब लोग पिंजड़ा नहीं लगवा सकते अगर अधिकारियों का रवैया इसी तरह रहा तो आम पब्लिक की सुरक्षा कैसे होगी फसल कटाई का समय होने के कारण लोग अपने खेतों में जाने से डरने लगे हैं और अधिकारी एवं प्रशासन दोनों ने चुप्पी साध रखी है