जाम में फंसी प्रसूता को प्रभारी निरीक्षक तरकुलवा ने अपनी गाड़ी से पहुंचाया अस्पताल
कमलाकर मिश्र की रिपोर्ट
देवरिया- एंबुलेंस के अभाव में बाइक से अस्पताल जा रही एक प्रसूत तरकुलवा कस्बे में साप्ताहिक बाजार के जाम में फंस गई। बाइक से अनियंत्रित होकर गिरने की स्थिति देखकर सड़क किनारे खड़े प्रभारी निरीक्षक प्रदीप शर्मा की नजर पड़ी। प्रसव पीड़ा से परेशान महिला को प्रभारी निरीक्षक ने अपनी गाड़ी में बैठाकर खुद सीएचसी में भर्ती कराया। पुलिस का यह कदम महिला के लिए वरदान साबित हुआ। सीएचसी से कुछ दूरी पर ही प्रभारी निरीक्षक की गाड़ी में महिला ने बच्चे को जन्म दिया। पुलिस ने सीएचसी में भर्ती कराकर मानवता की मिसाल पेश की। मिली जानकारी के अनुसार कस्बे में साप्ताहिक बाजार मंगलवार को लगती है। इसके कारण अक्सर वाहनों की भीड़ लगने के कारण जाम से लोगों को जूझना पड़ता है। दोपहर में प्रभारी निरीक्षक प्रदीप शर्मा और उनकी टीम गश्त पर निकली हुई थी इसी दौरान बाइक से अस्पताल जा रही एक प्रसूता जाम में फंस गई। महिला बाइक से उतर कर सड़क पर बैठक गई और प्रसव पीड़ा से तड़पने लगी। यह देख प्रभारी निरीक्षक प्रदीप शर्मा ने ने तत्काल नरहरपट्टी गांव निवासी मीरा देवी पत्नी भोला को अपने वाहन में बैठाया और सीएचसी लेकर पहुंच गए। संयोग रहा कि प्रभारी निरीक्षक के वाहन में ही बच्चे ने जन्म दे दिया और महिला को महिला पुलिसकर्मी के सहयोग से खुद स्ट्रेचर पर लाद कर अस्पताल में भर्ती कराकर मानवता की अनूठी मिसाल पेश की। समय से पहुंच जाने से महिला को सकुशल पुत्र पैदा होने से परिवारीजनों ने पूरी पुलिस टीम को धन्यवाद दिया । प्रभारी निरीक्षक प्रदीप शर्मा ने बताया कि बाइक से महिला जा रही थी, जिसे काफी दिक्कत हो रही थी। हमने उसे अस्पताल में भर्ती कराने के लिए अपनी गाड़ी में बैठा लिया। उसे लड़का हुआ है।