पत्नी को दिया तीन तलाक नहीं सुनी जा रही पुकार
रिपोर्ट पी एन वर्मा ब्यूरो चीफ सीतापुर
उत्तर प्रदेश के सीतापुर में तीन तलाक का मामला सामने आया है, पीडित महिला उसके पति व उसके परिवारीजन द्वारा 50000 रूपये के दहेज की माग की गई. दहेज की मांग पूरी ना होने पर देवर व पति द्वारा जबरन गाड़ी में बैठा कर महिला को उसके मायके के पास गाड़ी से धकेल दिया गया. और उसे तलाक तलाक तलाक कहकर उसे वही छोड दिया. इस सम्बंध में पीड़ित महिला द्वारा पुलिस को तहरीर दी है. सीतापुर: जिले के संदना थाने क्षेत्र की असल मजरा कुचलाई गांव निवासी रेशमा बानो पुत्री मुमताज की शादी 5 वर्ष पूर्व मुस्लिम रीति रिवाज के अनुसार दान दहेज देकर पीडिता के पिता ने मेराज पुत्र नजर अली निवासी ग्राम बेनीगंज थाना बेनीगंज जिला हरदोई के साथ की थी. शादी के बाद मेराज अपनी पत्नी रेशमा व परिवार को लेकर गौतमबुध नगर काम करने के लिए चला गया. जहां पर सास जैतून, ससुर नजर अली, देवर सिराज, ननंद साबरी लगातार रेशमा बानो को दहेज के लिए लगा तार प्रताड़ित किया जा रहा था. जिससे तंग आकर रेशमा अपने मायके आकर बैठ गई. लगभग 2 वर्ष अपने मायके में अपने पिता के साथ रह रही थी. 15 दिन पूर्व पति व ससुर उसके मायके आए और उसे कहा कि अब हम लोग बेनीगंज में आकर रहने लगे हैं चलो साथ में रहो रेशमा अपने ससुराल बेनीगंज चली गई. बीते गुरुवार को मेरा पति सहित देवर सास ससुर द्वारा 50000 रूपये की मांग की गई. मांग पूरी ना होने पर पति व देवर द्वारा महिला को जबरदस्ती गाड़ी में बैठा कर उसके मायके असल गांव के पास धकेल दिया और तीन बार तलाक तलाक तलाक कहकर चला गया. शुक्रवार को इस घटना की तहरीर रेशमा द्वारा संदना थाने में देकर कार्यवाही किए जाने की मांग