चुनाव के ऐलान के बाद क्षेत्र में सियासी सरगर्मी बढ़ गई
सदर तहसील कृपा शंकर यादव की रिपोर्ट। गाजीपुर
कासीमाबाद/ गाजीपुर। आरक्षण सूची जारी होते ही निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष आशा यादव पत्नी पूर्व प्रमुख विजय सिंह यादव के कासिमाबाद षष्टम से जिला पंचायत सदस्य पद का चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद क्षेत्र में सियासी सरगर्मी बढ़ चुकी है।कासिमाबाद षष्टम से आशा यादव के चुनाव लड़ने की जानकारी सपा के वरिष्ठ नेता पूर्व प्रमुख मरदह विजय सिंह यादव ने दी है। विजय सिंह यादव ने बताया कि हमने अपने कार्यकाल में जिले के विकास के लिए हर संभव विकास कार्य किया है।कासिमाबाद षष्टम के अंतर्गत आने वाले विभिन्न गांवों से हमारा गहरा लगाव रहा है। जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर रहते आशा यादव ने करोड़ों की लागत से इस क्षेत्र में विकास के कार्य किए। जिनमें मटेहूँ में 40 लाख की लागत से, महिपालपुर से डोड़सर तक 92 लाख की लागत से, भदसा से सबुनिया तक 52 लाख की लागत से, गाईं से बहतुरा तक लगभग 35 लाख की लागत से, टिसौरी से भटौना तक 25 लाख की लागत से, अमर शहीद हरेंद्र यादव के गांव में 25 लाख की लागत से,दुधौड़ा से भदसा तक 38 लाख की लागत से विभिन्न सड़क मार्गों का निर्माण कराया गया।इसके अलावा भी विकास के कई बड़े-बड़े काम इस क्षेत्र की जनता के लिए किए हैं। हर लोगों के सुख दुःख में सहभागिता सुनिश्चित किया हैं,प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार रहने के बावजूद भी तमाम समस्याओं से लड़ते हुए हमने अपने कार्यकाल में विकास के कार्यो में कोई कमी नही आने दी। पूरे कार्यकाल में सदन शांतिपूर्वक चला। किसी भी सदस्य को कोई भी शिकायत नही थी, हमने सभी सदस्यो के हितो का ख्याल रखा। कर्मचारियो के हितो में भी कार्य किया। उन्होने कहा कि भविष्य में जनता का आशीर्वाद रहा तो हम प्रदेश का सर्वश्रेष्ठ जिला पंचायत जनपद को बनायेंगे।