कोविड-19 के रोकथाम के लिये डीएम ने सीएमओ को दिया निर्देश
देवरिया-जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने मुख्य चिकित्साधिकारी को जनपद में महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों/संस्थानो में संदिग्ध कोविड मरीजो का चिन्हाकन कराये जाने एवं कोविड-19 की रोकथाम में लगे राजकीय कर्मियों को संक्रमण से बचाने के लिये 45 वर्ष से ऊपर के कार्मिकों को कोविड का वैक्सीनेशन कराये जाने व नियमित रुप से छिडकाव एवं सैनिटाइजेशन की व्यवस्था कराये जाने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने कहा है कि जनपद में महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानो/संस्थानो यथा-कलक्ट्रेट, सत्र न्यायालय एवं दीवानी न्यायालय परिसर, विकास भवन, तहसील, जिला कारागार, पुलिस लाईन, मण्डी, जिला अस्पताल पुरुष एवं महिला, वृद्धाआश्रम, राजकीय बाल संरक्षण गृह, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन इन सभी महत्वपूर्ण संस्थानो में नियमित रुप से संदिग्ध कोविड मरीजो के चिन्हांकन हेतु सैम्पलिंग की व्यवस्था की जाये। जिलाधिकारी श्री निरंजन ने कहा है कि कोविड के प्रभाव के रोकथाम में अग्रणी भूमिका निभा रहे महत्वपूर्ण विभागो के कार्मिकों को इसके संक्रमण से बचाया जाना जिला प्रशासन की प्राथमिकता है। अतः जनपद के प्रत्येक तहसील, थाना, विकास खंड कार्यालय, नगर निकाय, कलक्ट्रेट, विकास भवन, पुलिस आफिस, पुलिस लाइन, जिला कारागार एवं स्वास्थ्य विभाग की विभिन्न इकाईयों के सभी कार्मिकों की कोरोना जांच प्राथमिकता पर किया जाये तथा इन महत्वपूर्ण इकाईयों के 45 वर्ष से ऊपर के कार्मिकों का कोविड वैक्सीनेशन प्राथमिकता के साथ सुनिश्चित कराया जाये। इन इकायों में नियमित रुप से छिडकाव एवं सैनिटाइजेशन की व्यवस्था कराये जाने का निर्देश उन्होने दिया है। साथ ही उन्होने यह भी कहा है कि इसका समयबद्ध अनुपालन सुनिश्चित हो तथा संबंधित कार्यालयाध्यक्ष/विभागाध्यक्ष से अपेक्षित सहयोग भी आवश्यकतानुसार प्राप्त किये जाये। जिलाधिकारी ने अनुपालन के साप्ताहिक आख्या कैम्प कार्यालय पर प्रत्येक सोमवार को सायं 7 बजे अनिवार्य रुप से उपलब्ध कराये जाने का निर्देश भी दिया है।