कोविड-19 के प्रभावी नियंत्रण एवं बचाव कार्यो की डीएम ने की समीक्षा
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिया -कोविड-19 के प्रभावी नियंत्रण एवं बचाव तथा रोकथाम कार्यो को लेकर कलक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन द्वारा प्रतिदिन देर रात्रि समीक्षा की जाती है। एक-एक बिन्दुओं का अनुश्रवण कर स्वास्थ्य विभाग सहित जुडे सभी अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए जाते है। इसी क्रम में मंगलवार को देर सायं कोविड-19 की समीक्षा कलक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी द्वारा की गई। इस दौरान उन्होने ऐसे कोरोना मरीज, जिन्हे स्वास्थ्य विभाग प्रयास के बावजूद भी ट्रेस नही कर पाये है, उनकी सूची पुलिस विभाग को उपलब्ध कराये जाने का निर्देश दिया, जिससे कि उनके मोबाइल नम्बर को सर्विलांस पर लगाकर उनको ट्रेस किया जा सके। उन्होने पाजिटिव प्रकरण केस-टू-समीक्षा किया। होम आइसोलेशन, कन्टेनमेन्ट जोन व कान्टेक्ट सर्वे कार्यो का जायजा के दौरान निर्देश दिया कि प्रभारी चिकित्साधिकारी कान्टेक्ट सर्वे सेम डे करायेगें। साथ ही डाटा फीडिंग को अनिवार्य रुप से उसी दिन सुनिश्चित करायेगें। इसमें लापरवाही बरते जाने पर संबंधित प्रभारी चिकित्साधिकारी की जिम्मेदारी तय होगी और उन पर कार्यवाही की जायेगी। तरकुलवां, गौरी बाजार, नगरीय, भलुअनी, भाटपाररानी की डाटा फीडिंग पर असंतोष जताया। संबंधित प्रभारी चिकित्साधिकारियों को फोन पर फटकार लगाया तथा चेताते हुए कहा कि हर हाल में उसी दिन कोविड पोर्टल पर डाटा फीडिंग अनिवार्य रुप से करेगें। उन्होने सीएमओ को निर्देश दिया कि सभी जगहों से डाटा 4 बजे तक एकत्रित कर उसकी समीक्षा जूम मीटिंग के माध्यम से प्रभारी चिकित्साधिकारियों से करने के उपरान्त इस बैठक में प्रस्तुत करेगें। जिलाधिकारी ने कोविड से संबंधित संसाधनो का डिमाण्ड ब्लाको से प्राप्त किये जाने साथ ही आइवर वेक्टिन सहित अन्य दवाओं की उपलब्धता के साथ उसे बटवाये जाने का निर्देश सीएमओ को दिया। उन्होने सर्विलान्स टीम एवं आरआरटी टीम को और सक्रिय किये जाने पर बल देते हुए कहा कि जहां नये पाजिटिव केस आये, वहां कोविड-19 के प्रोटोकाल अनुसार कन्टेमेन्ट जोन का पालन अनिवार्य रुप से सुनिश्चित कराया जाये तथा कान्टेक्ट ट्रेसिंग को भी उसी दिन पूर्ण कर लिया जाये। बैठक में सीआरओ अमृत लाल बिन्द, सीएमओ डा आलोक पाण्डेय, सीएमएस एएम वर्मा, डिप्टी सीएमओ/जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा सुरेन्द्र सिंह, डबलूएचओ के प्रतिनिधि गण सहित स्वास्थ्य विभाग से संबंधित अन्य कर्मचारी गण आदि उपस्थित रहे।