मादक पदार्थो के साथ पेट्रोलियम पदार्थों की तस्करी तेज
आलोक सिंह ब्यूरो चीफ बहराइच
*नेपाली पुलिस ने मिनी ट्रक से बरामद किया 2 हजार लीटर डीज़ल।* भारत नेपाल सीमा क्षेत्र में मादक पदार्थो की तस्करी के साथ ही अब पेट्रोलियम पदार्थो की तस्करी नेपाल से बड़े पैमाने पर की जा रही हैं। सीमा पर तस्कर व कैरियर्स एक के बाद एक प्रतिबंधित वस्तुओं की तस्करी के नए तरीके निकाल ही लेतें हैं। जिस प्रतिबंधित सामानो में लाभ देखतें हैं।उसे भारत से नेपाल व नेपाल से भारत पहुँचा ही देतें हैं। इस समय भारत मे नेपाल से पेट्रोलियम पदार्थों की तस्करी तेज हो गयी है। बहराइच जिले से सटे नेपाली जिला बांके की नरैनापुर ग्रामसभा नेपाल से भारत की ओर डीज़ल तस्करी परवान चढ़ी है। बुधवार की सुबह बांके जिले के पुलिस कर्मियों ने 2 हजार लीटर मिनी ट्रक नम्बर भे १ ख २९६० पर ड्रमों में भरा २ हजार लीटर डीज़ल नेपाल से भारतीय क्षेत्र में लाते हुए पकड़ लिया। इस संबंध में जानकारी देते हुए क्षेत्रीय पुलिस कार्यालय भगवानपुर के इंचार्ज बसंत गौतम ने बताया कि मुझे गुप्त सूचना मिली थी कि ट्रक पर लदा डीज़ल भारत जाने वाला है।अपने सहकर्मियों के साथ इसे घेर कर पकड़ लिया।चालक व डीज़ल सहित ट्रक को कस्टम कार्यालय नेपालगंज को सौप दिया गया है। *भारत व नेपाल में* *क्या है रेटो में अंतर।* भारत से नेपाल के लिए सभी पेट्रोलियम पदार्थ गोंडा डिपो से रुपईडीहा कस्बे होकर नेपाल सप्लाई होती हैं। 50 से अधिक टैंकर व कंटेनर डीज़ल, गैस,पेट्रोल व एयर ट्रैफिक फ्यूल भारत से ही रुपईडीहा होकर नेपालगंज भेजा जाता है।भारत सरकार इन पदार्थों पर कोई टैक्स नही लेती।इसी वजह से नेपाल में डीज़ल 61 रुपये व भारत मे लगभग 83 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है।इसी प्रकार नेपाल में पेट्रोल 71 रुपये भारत मे 89 रुपये लगभग बिक रहा है।इस प्रकार डीज़ल पर 22 रुपये व पेट्रोल पर लगभग 18 रुपये का मुनाफा होता है। यही नही सैकड़ों की संख्या में भारत से निर्यात होने वाले सामान को ले जाने वाले ट्रक ड्राइवर भी नेपाल पहुचने तक का डीज़ल ही ट्रकों में भरतें हैं। नेपाल से लौटते समय टंकिया फूल करा कर भारत लौटते हैं। यहां पहुंच कर हजारो रुपयो का फायदा कमा लेते है। यह कार्य प्रतिदिन चल रहा हैं।