प्रसिद्ध संत पवहारी महाराज का कोरोना से निधन
कमलाकर मिश्न की रिपोर्ट
देवरिया की पैकौली कुटी के सातवें पवहारी महाराज राघवेंद्र दास जी का शुक्रवार को निधन हो गया। वह कुछ समय पूर्व कोरोना का चपेट में आ गए थे। सांस में तकलीफ होने के चलते उन्हें दोपहर में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मूल रूप से पकड़ी बाजार के करीब पिपरा पुरुषोत्तम निवासी राघवेंद्र दास जी ने 2011 में गद्दी संभाली थी। राघवेंद्र दास जी गुरुवार को हरिद्वार कुंभ से लौटे थे। भटवलिया कुटी पर कुछ देर विश्राम करने के बाद महाराज जी बैकुंठपुर कुटी गए। वहां से लौटकर पैकौली स्थित मूल कुटी पर महाराज ने रात्रि विश्राम किया। शुक्रवार की सुबह महाराज जी को सांस लेने में कठिनाई होने लगी। इस पर कुटी के लोग उन्हें जिला अस्पताल में इलाज के लिए लेकर पहुंचे। अस्पताल में एंटीजन टेस्ट में रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद उन्हें एमसीएच विंग के कोविड वार्ड में भर्ती कर दिया गया जहां 4 बजे उनका निधन हो गया। दो साल पहले उनकी किडनी का प्रत्यारोपण हुआ था।पवहारी महाराज के प्रयाण की सूचना मिलते ही जिले में शोक की लहर दौड़ गई।