कोरोना महामारी की दूसरी लहर के चलते भारत के विभिन्न महानगरो से लौटने लगे नेपाली कामगार
आलोक सिंह ब्यूरो बहराइच
बहराइच भारत के विभिन्न महानगरों में दूसरी कोरोना महामारी को को देखते हुए व नेपाली बिसु पर्व मनाने के लिए प्रतिदिन भारी संख्या में नेपाली नागरिक प्राइवेट बसो व अन्य साधनो से अपने वतन लौटने का सिलसिला शुरू हो गया है। सामान्य दिनों की अपेक्षा आज कल रूपईडीहा के रास्ते नेपाल जाने वालों की संख्या में करीब दो से तीन गुना बढ़ोत्तरी हो गई है। नेपाली नागरिकों को भारत में दोबारा लॉकडाउन लगने का भी भय सता रहा है। इसी के चलते वह लोग पूरे परिवार और सामान के साथ अपने वतन वापसी कर रहे हैं। पूरे नेपाल में इन दिनों भारत से कम कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। इधर भारत में हर दिन संक्रमितों की तादात करीब एक लाख पहुंच रही है। इससे लोगों में दहशत का माहौल है। नेपाल के लाखों लोग भारत के विभिन्न महानगरों में काम करते हैं। बताया जाता हैं कि कुछ ही दिनों बाद नेपाल में नव संवत्सर को बिसु पर्व के रूप में भी मनाया जाएगा। भारत में कोरोना की बढ़ती रफ्तार से दहशत में आए नेपाली नागरिक अब भारत के विभिन्न महानगरों से परिवारों सहित रोडवेज़ बसो व डग्गामार बसो अपने देश लौट रहे हैं। इधर एक सप्ताह के भीतर करीब लाखों नेपाली नागरिक रूपईडीहा बॉर्डर से अपने वतन लौट चुके हैं। पिछले साल भी लॉकडाउन के दौरान रूपईडीहा स्थित अंतरराष्ट्रीय सीमा पर हजारो नेपाली नागरिकों का जमावड़ा लग गया था। बार्डर पर नेपाली नागरिको को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा था।